पीएमओ ने कहा, प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा के फायदों का रिकॉर्ड नहीं रखते- PMO said, the prime minister does not keep records of the benefits of foreign travel - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पीएमओ ने कहा, प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा के फायदों का रिकॉर्ड नहीं रखते

प्रधानमंत्री कार्यालय ने केंद्रीय सूचना आयोग से कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राओं के लाभों की गणना नहीं की जा सकती।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने केंद्रीय सूचना आयोग से कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश यात्राओं के लाभों की गणना नहीं की जा सकती। इस तरह का कोई आंकड़ा आधिकारिक रिकॉर्ड का अंग नहीं होता। यह मामला आरटीआइ आवेदक कीर्तिवास मंडल की अपील से जुड़ा है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की विदेश यात्राओं, इन यात्राओं में लगे समय, इनसे होने वाले फायदों तथा अन्य बातों की जून 2016 में जानकारी मांगी थी। सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने आवेदक को बताया है कि उन्होंने प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा एवं उसमें हुए खर्च के बारे में जो जानकारी मांगी है, वह उसकी वेबसाइट पर उपलब्ध है।

आवेदक इसके बाद सीआइसी पहुंचा और उसने कहा कि उसे मिले उत्तर में कई सूचनाएं नहीं हैं जैसे कि विदेश यात्रा में बिताए गए घंटे। आवेदक की शिकायत यह भी थी कि उसे यह भी नहीं बताया कि वह कौन सा कोष था, जिससे प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा में धन व्यय किया गया। पीएमओ ने 10 अक्तूबर 2017 को हुई सुनवाई में कहा कि जहां तक विदेश यात्राओं से जनता को होने वाले लाभ की बात है, आवेदक को यह सूचित किया गया है कि यह जानकारी आधिकारिक रेकॉर्ड का अंग नहीं है।

मुख्य सूचना आयुक्त राधाकृष्ण माथुर ने कहा, ‘प्रतिवादी (पीएमओ) ने कहा कि विदेश यात्राओं के लाभ की गणना नहीं हो सकती और यह उनके रिकॉर्ड में उपलब्ध नहीं है। विदेश यात्रा में लगे घंटे भी रेकॉर्ड में नहीं हैं।’ उन्होंने ध्यान दिलाया कि पीएमओ ने कहा है कि यात्रा पर होने वाला खर्च भारत की संचित निधि से व्यय होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App