ताज़ा खबर
 

मोदी जी, आप अच्‍छे नेता हैं, पर 4500 करोड़ जब्‍त कर रखे हैं, आज दो मरे हैं, 200 हो जाएंगे, मदद कीज‍िए- पीएमसी बैंक के ग्राहक की पीएम से गुहार

बैंक से पैसा ना निकाल पाने पर अपना दर्द बयां करते हुए 48 साल के अनिल कहते हैं कि उनके भाई की किडनी खराब है और इलाज के लिए पैसे की सख्त जरुरत है। अनिल कहते हैं कि वो खुद डायबटीज के मरीज हैं, बचपन में मां का देहांत हो गया था, जिसके चलते पूरे परिवार की जिम्मेदारी उनके ही कंधों पर है।

Author नई दिल्ली | Published on: October 17, 2019 2:41 PM
भाई के इलाज के लिए बैंक से पैसा ना निकाल पाने पर अपना दर्द बयां करते हुए 48 साल के अनिल कहते हैं कि उनके भाई की किडनी खराब है और इलाज के लिए पैसे की सख्त जरुरत है। (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीन शॉट)

पंजाब एण्ड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक में हजारों करोड़ों रुपए फंसे होने पर हजारों की तादाद में ग्राहक परेशान हैं। पिछले दिनों में कम से कम दो ऐसे लोगों की मौत हो चुकी है जिनका जुड़ाव बैंक से बताया जाता है। सैकड़ों की तादाद में ऐसे लोग भी सामने आए हैं जो सख्त जरुरत के चलते अपना ही पैसा बैंक नहीं निकाल पा रहे। बैंक के कुल कर्ज का 70 फीसदी पैसा एनपीए होने के बाद आरबीआई ने बैंक को कोई नया कर्ज देने पर रोक लगा रखी है। इसके अलावा ग्राहकों को भी छह महीने में 40,000 रुपए तक निकालने की अनुमति है। जरुरत पर बैंक से पैसा ना मिलने पर मुंबई के एक कारोबारी ने अपना दर्द बयां करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है। कारोबारी ने कहा कि मोदी बहुत अच्छे नेता है और उन्हें मदद की उम्मीद है।

बैंक से पैसा ना निकाल पाने पर अपना दर्द बयां करते हुए 48 साल के अनिल कहते हैं कि उनके भाई की किडनी खराब है और इलाज के लिए पैसे की सख्त जरुरत है। अनिल कहते हैं कि वो खुद डायबटीज के मरीज हैं, बचपन में मां का देहांत हो गया था, जिसके चलते पूरे परिवार की जिम्मेदारी उनके ही कंधों पर है। जिंदगी भर जो भी जुटाया उसे पीएमसी बैंक में जमा करते रहे। बीते 25 सालों में करोड़ों रुपए की रकम उन्होंने बैंक में जमा कराई थी, मगर अपनी वही रकम जरुरत पर निकालने के लिए अब बैंक के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

अपना दर्द सुनाते हुए कारोबारी अनिल तिवारी कहते हैं, ‘पिछले करीब 25 सालों से मेरा पीएमसी बैंक में अकाउंट है। हमारा बिजनेस अकाउंट भी उसी बैंक में है। हमारी एफडी और सेविंग भी उसी में है। सालों में हम बैंक से जुड़े रहे, इस दौरान बैंक की सर्विस से जुड़ी भी कोई समस्या नहीं आई। बैंक के स्टाफ का भी बर्ताव बहुत अच्छा रहा है। हमें बैंक से पूर्व में भी कोई परेशानी नहीं रही।’

अनिल के मुताबिक, ‘बैंक और मेरे ऑफिस की दूरी बहुत कम थी। अब करोड़ों रुपए हमारे बैंक में रुक गए हैं। बीते अगस्त महीने में भाई की किडनी फेल हो गई। सरकारी हॉस्पिटल में देरी के चलते भाई को अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। जहां डॉक्टरों ने बताया कि 99 फीसदी उनकी किडनी फेल हो चुकी है। नवंबर में भाई की किडना ट्रांसप्लांट की जानी थी मगर बैंक में हमारा पैसा ब्लॉक हो गया। अब भाई का इलाज कैसे होगा। भाई की बेटी की भी शादी होनी हैं और हमारे पास पैसा नहीं है।’

अनिल कहते हैं कि उनका बेटा भी बेंगलुरु में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है, ऐसे में उसकी फीस कैसे दे पाएंगे। कंपनी का भी 25 से 30 लोगों का स्टाफ है। अनिल के मुताबिक, ‘पिछले 25-30 सालों में स्टाफ की सैलरी एक दिन की देरी से भी नहीं मिली। अब स्टाफ की सैलरी कैसे दे पाएंगे। उनका घर कैसे चलेगा। मेरा घर कैसे चलेगा। मैं खुद हार्ट का मरीज था।’ बैंक से पैसे ना मिलसे हताश अनिल शरीर पर ऑपरेशन के निशान दिखाते हुए कहते हैं कि वो खुद हॉस्पिटल में भर्ती थे और हाल में घर आए हैं।

आंखों में आंसू लिए कारोबारी अनिल आगे कहते हैं, ‘मैं रोज शाम को पैसे मिले इस उम्मीद से बैंक के बाहर आता हूं। मैं अपने परिवार में इकलौता कमाने वाला हूं। हम मोदी जी को समझते थे कि वो दूसरे गांधी हैं। इसलिए हम मोदी जी से भी अपील करते हैं कि हमारी मदद कीजिए। आप अच्छे नेता है, पर 4,500 करोड़ से ज्यादा जब्त कर लिए हैं। राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस से भी काफी उम्मीदें हैं। वो भी बहुत अच्छे नेता हैं। हमारे बैंक को चालू कीजिए। आज दो लोग मरे हैं, यह संख्या 200 तक पहुंच जाएगी। कल मेरी भी मौत हो जाएगी। प्लीज सीएम-पीएम सर हमारी मदद कीजिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘केस की लिस्टिंग होने तक भी इंतजार नहीं कर सकते तो बंद कर दीजिए प्रथा’, 2021 में CJI बनने की कतार में खड़े जज वकीलों पर भड़के
2 Kerala Lottery Today Results announced: 70 लाख रुपए तक का इनाम घोषित, यहां चेक करें आपका लगा या नहीं?
3 संघ परिवार, हिन्दूवादी संगठन ने दी धमकी, VC ने आननफानन में आधी रात रद्द कर दिया कन्हैया का प्रोग्राम