ताज़ा खबर
 

2019 की तैयारी? पीएमओ ने मंत्रालयों से पूछा- अगले 6 महीने में किन प्रोजेक्‍ट्स का हो सकता है उद्घाटन

सभी मंत्रालयों से उनके प्रोजेक्ट्स के नाम बताने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा फंडिंग पैटर्न यानी केंद्र और राज्य सरकार द्वारा उपयुक्त परियोजना को कितना पैसा मुहैया कराया जाएगा, क्या परियोजना को शुरू करने के लिए सभी जरूरी मंजूरी ले ली गईं हैं, इसकी भी जानकारी मांगी गई है।

कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (पीटीआई फाइल फोटो)

लोकसभा चुनाव अब एक साल से भी कम समय बचा है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने चुनाव को देखते हुए इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत पीएम ऑफिस ने सभी मंत्रालयों से परियोजनाओं के राज्यवार विवरण देने को कहा है। इसमें उन प्रोजेक्ट्स के बारे में जानकारी में मांगी है जिनका उद्घाटन अगले छह महीने यानी 31 दिसंबर तक किया जा सके। सभी मंत्रालयों से कहा गया कि वो ऐसे सभी प्रोजेक्ट्स की रिपोर्ट दें जिनको अगले छह महीनों में शुरू किया जा सकता है या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उनका उद्घाटन किया जा सकता है।

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक सभी मंत्रालयों से उनके प्रोजेक्ट्स के नाम बताने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा फंडिंग पैटर्न यानी केंद्र और राज्य सरकार द्वारा उपयुक्त परियोजना को कितना पैसा मुहैया कराया जाएगा, क्या परियोजना को शुरू करने के लिए सभी जरूरी मंजूरी ले ली गईं हैं, इसकी भी जानकारी मांगी गई है। इसमें आवास और शहरी मामलों, सड़क परिवहन और राजमार्गों, रेलवे और नागरिक विमानन सहित बुनियादी ढांचे के मंत्रालयों पर जोर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक सभी मंत्रालयों को एक समर्थन पत्र भेजा गया है। इसमें उन परियोजनाओं की जानकारी और संख्या बताने को कहा है जिनका उद्घाटन कर प्रधानमंत्री उसे राष्ट्र के प्रति समर्पित कर सकें।

बता दें कि यह कार्यक्रम ऐसे में समय में शुरू किया गया है जब लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा शासित राज्यस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव होने हैं। इससे पहले भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में ऐसा ही अभ्यास किया गया थी जब राज्य में विधानसभा चुनाव के एक साल बाद लोगों में आम धारणा बनने लगी की सरकार बदलने के एक साल बाद भी राज्य परिजोजनाएं नहीं चल रही थीं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App