ताज़ा खबर
 

दोस्त से दुश्मन बने सीएम चंद्रबाबू नायडू को पीएम नरेंद्र मोदी ने यूं दी जन्मदिन की बधाई

प्रधानमंत्री ने नायडू को उनके जन्मदिन की बधाई दी। पीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू को जन्मदिन की बधाई। मैं उनके लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं।

अपने जन्मदिन के मौके पर सीएम चंद्रबाबू नायडू भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

कभी कमल के साथ कदमताल करने वाली तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने कुछ ही महीनों पहले कमल का साथ छोड़ दिया था। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और भाजपा शीर्ष नेतृत्व के बीच तनातनी इतनी बढ़ी की टीडीपी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से खुद को अलग ही कर लिया। अलग होने के बाद से टीडीपी अपने पुराने दोस्त पर लगातार हमले भी कर रही है। लेकिन आज बात यहां दोनों पार्टियों के बीच कड़वाहट की नहीं बल्कि एक खास मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा चंद्रबाबू नायडू को भेजे गए एक संदेश की।

जी हां, शुक्रवार (20 अप्रैल) को टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू का जन्मदिन है। तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दोस्त से दुश्मन बने नायडू को शुभकामना संदेश देना नहीं भूले। अपने व्यस्त कार्यक्रमों से थोड़ा समय निकालकर प्रधानमंत्री ने नायडू को उनके जन्मदिन की बधाई दी। पीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू को जन्मदिन की बधाई। मैं उनके लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं। वाकई अपने पुराने दोस्त और मौजूदा दुश्मन को बधाई देने का प्रधानमंत्री का यह अंदाज निराला है।

बहरहाल आपको बता दें कि अपने जन्मदिन के मौके पर आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू भूख हड़ताल पर बैठे हैं। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर नायडू ने यह भूख हड़ताल किया है। नायडू के अलावा 13 और मंत्री राज्य के अलग-अलग जिलों में हड़ताल पर रहेंगे जबकि बाकी मंत्री नायडू के साथ ही भूख हड़ताल करेंगे।

उधर नायडू की हड़ताल को राज्य की विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने जनता के साथ धोखा बताया है। विपक्ष के नेता जगन मोहन रेड्डी ने सवाल उठाया था कि जब उनकी पार्टी के सांसदों ने इस्तीफा देकर भूख हड़ताल की थी, तब नायडू ने टीडीपी सांसदों से साथ देने के लिए क्यों नहीं कहा। उन्होंने कहा था कि अगर तब ऐसा हुआ होता तो यह राष्ट्रीय मुद्दा बनता और केंद्र आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा दे देता।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दाऊद इब्राहिम की करोड़ों की प्रॉपर्टी सीज करेगी सरकार, सुप्रीम कोर्ट ने दाऊद की बहन और मां की याचिका की खारिज
2 जज लोया मौत: कांग्रेस को घेरने का बीजेपी का प्लान लीक, पार्टी ने सांसदों को भेजा था ये ड्राफ्ट
3 गुजरात दंगाः नरोदा पाटिया दंगा मामले में पूर्व मंत्री माया कोडनानी निर्दोष, बाबू बजरंगी दोषी करार
IPL 2020 LIVE
X