ताज़ा खबर
 

मोदी के वाराणसी दौरे पर फिरा ‘पानी’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज उनके संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी का दौरा भारी बारिश के कारण रद्द कर दिया गया...

Author Updated: June 28, 2015 3:31 PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी का एकदिवसीय दौरा भारी बारिश के कारण फिलहाल रद्द कर दिया गया।

केंद्रीय उर्च्च्जा मंत्री पीयूष गोयल ने यहां संवाददाताओं को बताया ‘‘हमारी प्रधानमंत्री से टेलीफोन पर बात हुई तो उन्होंने कहा कि वाराणसी में भारी बारिश के कारण जनता को होने वाली असुविधा को देखते हुए कार्यक्रम को रद्द कर दिया जाए।’’

उन्होंने कहा कि मौसम विभाग से चर्चा करके प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की नयी तिथि तय की जाएगी। यह पूछे जाने पर कि आज बारिश होने की आशंका के मद्देनजर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का कोई वैकल्पिक दिन क्यों नहीं तय किया गया, गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री का कार्यक्रम काफी पहले तय किया जाता है, जबकि मौसम विभाग का पूर्वानुमान कुछ दिनों के लिये ही होता है। सिर्फ पूर्वानुमान के आधार पर कार्यक्रम निरस्त नहीं किये जाते।

इसके पूर्व, वाराणसी के मण्डलायुक्त आर. एम. श्रीवास्तव ने बताया था कि उन्हें फोन पर जानकारी दी गयी थी कि नगर में कल रात से हो रही जोरदार बारिश के कारण प्रधानमंत्री का दौरा निरस्त कर दिया जाए।

मोदी को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में स्थित ट्रामा सेंटर के उद्घाटन तथा एकीकृत विद्युत विकास योजना, समेत कई परियोजनाओं का शिलान्यास अथवा उद्घाटन करना था। उन्हें ‘विकास सभा’ रैली को भी सम्बोधित करना था लेकिन उसका आयोजन स्थल में पूरी तरह पानी भर गया था।

मोदी के दौरे को लेकर आशंका के बादल सुबह ही छा गये थे और आखिरकार यह दौरा रद्द करना पड़ा। प्रधानमंत्री को अपराह्न तीन बजकर 30 मिनट पर वाराणसी के बाबतपुर हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में 165 करोड़ रुपए की लागत से बने देश के सबसे बड़े अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस ट्रामा सेंटर का उद्घाटन करना था।

मोदी को आईपीडीपी समेत केंद्र प्रायोजित तीन परियोजनाओं का शिलान्यास अथवा उद्घाटन करना था जिनमें पुराने काशी शहर के लिये 432 करोड़ रुपए की परियोजना तथा वाराणसी शहर के लिये 140 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाएं भी शामिल थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories