ताज़ा खबर
 

कोच्चि मेट्रो में सफर करने वाले पहले यात्री होंगे पीएम मोदी, मंच पर ‘मेट्रो मैन’ श्रीधरन को नहीं मिलेगी जगह

विधायक से जब लिस्ट से श्रीधरन का नाम हटाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "यह बीजेपी के अहंकार को दिखाता है।" उन्होंने कहा कि कोच्चि मेट्रो का शिलान्यास प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा किया गया था, उस समय किसी को भी मंच से नहीं हटाया गया था।

कोच्चि मेट्रो का उद्धाटन करेंगे पीएम मोदी। (Photo Source: Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को केरल के पहली मेट्रो कोच्चि मेट्रो ट्रेन के उद्घाटन करने वाले हैं। पीएम मोदी कोच्चि मेट्रो ट्रेन के पहले आधिकारिक यात्री होंगे। इस बात का बुधवार को ऐलान किया गया। लेकिन इस कार्यक्रम के मंच पर बैठने के लिए मेट्रो मैन ई श्रीधरन को जगह नहीं मिली है। कोच्चि मेट्रो के उद्घाटन को लेकर शनिवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, लेकिन कार्यक्रम के लिए बने मंच में मेट्रो मैन को सीट नहीं दिया जाना हैरान करने वाला है। मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा केरल के राज्यपाल पी. सदाशिवम, सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू और केरल के मुख्यमंत्री पिन्नारी विजयन शामिल है।

कोच्चि मेट्रो रेल कोरपोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर इलाइस जॉर्ज ने मीडिया से कहा कि हमले समारोह के दौरान मंच पर बैठने वाले लोगों की सूची तैयार की थी और उसे प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई थी। अंतिम सूची पीएमओ की ओर से तैयार की गई है। हमारी इसमें कोई भूमिका नहीं है। जानकारी के मुताबिक जिन लोगों के नामों को पीएम मोदी के साथ बैठने वालों की लिस्ट से हटाया गया है, उनमें विपक्ष के नेता रमेश चेन्नथाला, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी, स्थानीय सांसद केवी थॉमस तथा स्थानीय विधायक पीटी ऑमस शामिल हैं।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15750 MRP ₹ 29499 -47%
    ₹2300 Cashback
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15735 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback

विधायक से जब लिस्ट से श्रीधरन का नाम हटाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “यह बीजेपी के अहंकार को दिखाता है।” उन्होंने कहा कि कोच्चि मेट्रो का शिलान्यास प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा किया गया था, उस समय किसी को भी मंच से नहीं हटाया गया था। यह केरल का ड्रीम प्रोजेक्ट है और इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वालों को अब दर्शकों के साथ बैठने के लिए कहा गया है। यह पूरी तरह से अन्याय है। कोच्चि रेल मेट्रो का काम साल 2012 में दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन के मुख्य सलाहार श्रीधरन के नेतृत्व में शुरू हुआ था। पहले चरण में 25 किलोमीटर तक मेट्रो रेल चलाई जानी है। ट्रेन पालारीनातोम और अलुवा के बीच 13 किलोमीटर की दूरी तक करेगी। बाकी पर काम जारी है।

ट्रांसजेंडर को नौकरी
कोच्चि मेट्रो ने सैकड़ों महिलाओं के साथ ही ट्रांसजेंडर समाज के लिए रोजगार के अवसर खोलकर लैंगिक न्याय की दिशा में नई पहल की। ‘कुडुमबाश्री मिशन’ की 600 से अधिक प्रशिक्षित महिलाओं को अलुवा से पलरिवात्तोम के बीच संचालित होने जा रही मेट्रो के पहले चरण में सुचारू संचालन से जुड़े कार्यों में लगाया गया है। वहीं, ट्रांसजेंडर समाज के 23 लोगों को टिकट काउंटर से लेकर साफ-सफाई से जुड़े काम की नौकरियां दी गई हैं।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

पटरी पर दौड़ेगी तेजस एक्सप्रेस, मेट्रो जैसे दरवाजे और एलसीडी स्क्रीन्स जैसी सुविधाओं से लैस

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App