ताज़ा खबर
 

PM नरेंद्र मोदी को मिलेगा एक और अवॉर्ड, जानिए- क्यों और कौन देने जा रहा है यह सम्मान?

सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशीप पुरस्कार की शुरुआत 2016 में हुई थी। वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण के क्षेत्र में प्रतिबद्ध नेतृत्व के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | March 5, 2021 8:28 AM
congress, BJPअंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं के द्वारा बनाए गए उत्पाद ख़रीदे (फोटो- PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शुक्रवार को कैम्ब्रिज एनर्जी रिसर्च एसोसिएट्स वीक (CERAWeek) के वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशीप पुरस्कार से नवाजा जाएगा। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम इस सम्मान समारोह में प्रधानमंत्री वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से शिरकत करेंगे। वह इस कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे।

डॉक्टर डेनियल येरगिन ने 1983 में सेरावीक की स्थापना की थी। इसकी स्थापना के बाद से प्रत्येक साल मार्च महीने में हृयूस्टन में सेरावीक का आयोजन होता है। इसकी गिनती विश्व के अग्रणी ऊर्जा मंचों में होती है। इस साल यह आयोजन डिजिटल तरीके से एक से पांच मार्च तक हो रहा है। बताया गया है कि इस साल सेरावीक कॉन्फ्रेंस में जलवायु परिवर्तन पर अमेरिकी राष्ट्रपति के प्रतिनिधि जॉन कैरी, माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स और सऊदी अरामको के सीईओ अमीन नासिर शामिल हुए हैं।

सेरावीक वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण लीडरशीप पुरस्कार की शुरुआत 2016 में हुई थी। वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण के क्षेत्र में प्रतिबद्ध नेतृत्व के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। बता दें कि पीएम मोदी को यह सम्मान दिए जाने का ऐलान पिछले हफ्ते ही हो चुका है। इस पर ‘आईएचएस मार्किट’ के उपाध्यक्ष और कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष डेनियल येरगिन ने कहा, ‘‘हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र की भूमिका पर दृष्टिकोण जानने के लिए उत्सुक हैं।

येरगिन ने कहा था, “देश की तथा पूरी दुनिया की भविष्य की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में भारत के नेतृत्व का विस्तार करने की उनकी प्रतिबद्धता के लिए प्रधानमंत्री को ‘सेरावीक वैश्विक ऊर्जा एवं पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कार से सम्मानित करने हुए प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास, गरीबी घटाना और नए ऊर्जा भविष्य के पथ पर आगे बढ़ते हुए भारत वैश्विक ऊर्जा और पर्यावरण के एक केंद्र के तौर पर उभरा है और वैश्विक ऊर्जा पहुंच सुनिश्चित करते हुए अच्छे भविष्य के लिए जलवायु परिवर्तन संबंधी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए उसका नेतृत्व महत्वपूर्ण है।”

Next Stories
1 केंद्र संग किसानों की नहीं बन रही बातः ‘सरकार तो चुनाव में लगी…चली गई है दिल्ली छोड़कर’, अटके मसले पर बोले राकेश टिकैत
2 हरियाणा की भाजपा सरकार में दस में चार बेरोज़गार, निजी कंपनियों में 75% आरक्षण ले आई खट्टर सरकार
3 भारत में घुसे म्यांमार के 19 पुलिसवाले, और के आने की आशंका
ये पढ़ा क्या?
X