ताज़ा खबर
 

अब अटकाने, लटकाने व भटकाने का दौर समाप्त : प्रधानमंत्री

मोदी ने कहा कि आज का अवसर दो तस्वीरों को याद करने का भी है। एक तस्वीर वर्तमान की है जो भाजपा सरकारों की कार्यसंस्कृति और हमारे काम करने के तरीके की है। वहीं दूसरी तस्वीर हमें बताती है कि पूर्ववर्ती सरकार के समय में कैसे काम होता था। उन्होंने कहा कि करीब 500 करोड़ रुपए की लागत से बनी बल्लभगढ़ मुजेसर मेट्रो लाइन की शुरुआत भी हो गई है।

Author November 20, 2018 10:00 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (19 नवंबर) को गुरुग्राम के सुल्तानपुर गांव में जन विकास रैली संबोधित किया। (फोटो – पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कुण्डली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे को राष्ट्र को समर्पित किया और बल्लभगढ़ मुजेसर मेट्रो लाइन की शुरूआत करते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में जिस तरह काम हुआ, वह एक केस स्टडी है कि कैसे जनता के पैसे को बर्बाद किया जाता है। उन्होंने कहा कि अब कार्यसंस्कृति बदल चुकी है और अटकाने-लटकाने का दौर खत्म हो चुका है। सुल्तानपुर में आयोजित सार्वजनिक समारोह में प्रधानमंत्री ने रिमोट के जरिए श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। रिमोट से ही उन्होंने मेट्रो लाइन का शुरुआत की। समानांतर समारोह राजानाहर सिंह स्टेडियम में चल रहा था। समारोह में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह और राव इंद्रजीत सिंह समेत कई नेता मंच पर मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच साल पहले आज ही के दिन रेवाड़ी में भाजपा के प्रधानमंत्री के उम्मीदवार की हैसियत से नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी। इस बार भी हरियाणा से लोकसभा चुनाव प्रचार का आगाज हो रहा है। हरियाणा की जनता लोकसभा की सभी सीटें भाजपा को देगी और विधानसभा में दोबारा बहुमत की सरकार बनवाएगी।
प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर अपने आधे घंटे के भाषण में सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि अब अटकाने, लटकाने और भटकाने का दौर समाप्त हो गया है। यही वजह है कि जहां साल 2014 से पहले देश में एक दिन में सिर्फ 12 किलोमीटर हाईवे बनते थे, वहीं आज लगभग 27 किलोमीटर हाईवे का प्रतिदिन निर्माण हो रहा है। कारोबार सुगम माहौल का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार देश में कारोबारियों को ताकत देना चाहती है, युवाओं को गति देना चाहती है। युवाओं को नवोन्मेष से उद्योग की दिशा में आगे बढ़ाया जा रहा है। उनके विचारों को आगे बढ़ाने में पूंजी की कमी न हो, इसका ध्यान रखा जा रहा है। स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया योजनाएं इसी सोच के साथ चल रही हैं।

उन्होंने कहा कि अभी कुण्डली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे को देश को समर्पित करने का मौका मिला है। इसका पहला चरण दो वर्ष पहले पूरा हो गया था। दूसरा चरण, कुण्डली से मानेसर तक, 83 किलोमीटर लंबा है। इस चरण का आज लोकार्पण किया गया है। इसके साथ ही 135 किलोमीटर का एक्सप्रेस वे पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस वे का इस्तेमाल कामनवेल्थ गेम्स में होना था। लेकिन कामनवेल्थ खेल की जो गति की गई, वही कहानी इस एक्सप्रेस वे की भी है। अब दिल्ली के चारों तरफ पेरिफेरियल सड़क बन जाने से दिल्ली पर वाहनों का दबाव कम होगा।

मोदी ने कहा कि आज का अवसर दो तस्वीरों को याद करने का भी है। एक तस्वीर वर्तमान की है जो भाजपा सरकारों की कार्यसंस्कृति और हमारे काम करने के तरीके की है। वहीं दूसरी तस्वीर हमें बताती है कि पूर्ववर्ती सरकार के समय में कैसे काम होता था। उन्होंने कहा कि करीब 500 करोड़ रुपए की लागत से बनी बल्लभगढ़ मुजेसर मेट्रो लाइन की शुरुआत भी हो गई है। ये दोनों योजनाएं जहां कनेक्टिविटी को लेकर इस क्षेत्र में नई क्रांति लाएंगी वहीं श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के जरिए यहां के युवाओं को नई ताकत मिलेगी। उन्होंने रेल सेवा में सुधारों का ब्योरा देते हुए हवाई यात्रा सस्ती करने से लेकर जलमार्ग शुरू करने जैसी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब 12 साल पहले यह प्रोजेक्ट (एक्सप्रेस वे) शुरू हुआ था, तो अनुमान लगाया गया था कि इस पर 1200 करोड़ रुपए खर्च होंगे लेकिन वर्षों के विलंब के कारण इसकी लागत बढ़कर तीन गुना से ज्यादा हो गई। अपनी सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि लोग वही हैं, काम करने वाले वही हैं, लेकिन जब इच्छाशक्ति हो, संकल्पशक्ति हो, तो कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र में बढ़ता संपर्क अपने साथ रोजगार के नए अवसर भी लेकर आता है। हाईवे निर्माण, मेट्रो या रेल का बनना, जल मार्ग का विकसित होना, एक पूरी पारिस्थितिकी बनाता है। इसका फायदा परिवहन, निर्माण से लेकर विनिर्माण और सर्विस सेक्टर तक को होता है। उनकी सरकार की योजना 21 सदी के लिए प्रदूषण रहित परिवहन व्यवस्था तैयार करने की है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के विजन को आगे बढ़ाने में हरियाणा ने पूरा सहयोग दिया है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना और खेलो इंडिया की सफलता इसका बड़ा उदाहरण हैं। खेलों में देश के लिए सबसे ज्यादा पदक यहां के बेटी और बेटे ही ला रहे हैं। भाषण देने से पहले वे एक्सप्रेस वे, कौशल विश्वविद्यालय से जुड़े प्रदर्शनी को देखने गए। मुख्यमंत्री की मांग के अनुरूप उन्होंने हिसार हवाई अड्डे को उड़ान योजना में शामिल किए जाने की जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हरियाणा की यह 11वीं यात्रा थी। मुख्यमंत्री खट्टर ने इसे उनका हरियाणा प्रेम कहा तो प्रधानमंत्री ने यह कह कर हरियाणा सरकार की सराहना की कि सरकार के काम करने के चलते वे बार-बार यहां आते हैं। मोदी के आने पर काफी देरी तक उनके पक्ष में नारे लगते रहे। समारोह में प्रधानमंत्री के अलावा मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ही बोले।

इस एक्सप्रेस वे का इस्तेमाल कामनवेल्थ गेम्स में होना था। लेकिन कामनवेल्थ खेल की जो गति की गई, वही कहानी इस एक्सप्रेस वे की भी है। बारह साल पहले इस पर 1200 करोड़ रुपए खर्च होते लेकिन वर्षों के विलंब के कारण इसकी लागत बढ़कर तीन गुना से ज्यादा हो गई।

केएमपी से 50 हजार वाहन कम होंगे दिल्ली से : तिवारी

कुंडली मानेसर पलवल (केएमपी) की मदद से दिल्ली में 50 हजार भारी वाहनों की संख्या में कमी आएगी। इसकी मदद से दिल्ली में प्रदूषण व दुर्घटनाओं में भी कमी होगी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केएमपी की शुरुआत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया है। उन्होंने बताया कि अब इसके आसपास पांच स्मार्ट सिटी भी बसेंगी। उन्होंने कहा कि जहां एक तरफ दिल्ली वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से यह आस लगाकर बैठे हुए हैं कि दिल्ली सरकार प्रदूषण को कम करने के लिए कोई पहल करेगी। वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री दूसरे राज्यों में आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करने में लगे हुए हैं। जनता की गाढ़ी कमाई के पैसे से दुबई घूमने गए हुए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार देश के नागरिकों के स्वास्थ्य को लेकर गंभीर है। इसलिए राहत के लिए हर संभव कार्य कर रही है। इसलिए प्रधानमंत्री ने केएमपी व वायलट लाइन मेट्रो का तोहफा देशवासियों को दिया है। यह पहल प्रदूषण के स्तर में कमी लाने में मददगार साबित होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App