WEF में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- जलवायु परिवर्तन, आतंकवाद दुनिया के सामने सबसे बड़ी चुनौती - PM Narendra Modi Says in Davos That Climate Change and Terrorism is Biggest Worry in Front of World - Jansatta
ताज़ा खबर
 

WEF में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- जलवायु परिवर्तन, आतंकवाद दुनिया के सामने सबसे बड़ी चुनौती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही विश्व के हालात पर भारत का व्यापक दृष्टिकोण प्रस्तुत किया। मोदी डब्ल्यूईएफ के इस सालाना आर्थिक शिखर सम्मेलन को संबोधित करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं।

Author दावोस | January 23, 2018 6:43 PM
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी। (ANI Pic)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जलवायु परिवर्तन और आतंकवाद को मंगलवार को दुनिया के समक्ष सबसे बड़ी चिंता बताया। दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने भारत की आर्थिक नीतियों में सुधार के लिए अपनी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों तथा देश में निवेश के बेहतर अवसरों की जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही विश्व के हालात पर भारत का व्यापक दृष्टिकोण प्रस्तुत किया। मोदी डब्ल्यूईएफ के इस सालाना आर्थिक शिखर सम्मेलन को संबोधित करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं।

मोदी ने कहा कि आतंकवाद खतरनाक है लेकिन आधिकारिक रूप से अच्छे आतंकवाद और बुरे आतंकवाद के बीच कृत्रिम भेद पैदा किया जाना उतना ही खतरनाक है। मोदी ने कहा कि आतंकवाद की समस्या को लेकर भारत के रुख के बारे में सभी जानते हैं, इसलिए इस मुद्दे के विस्तार में वह नहीं जाना चाहते। प्रधानमंत्री मोदी यहां विश्व आर्थिक मंच की 48वीं सालाना बैठक को संबोधित करने के लिए सोमवार को यहां पहुंचे।

उन्होंने कहा कि आज दुनिया में शांति, सुरक्षा और स्थायित्व का मुद्दा काफी गंभीर चुनौती बनकर उभरा है। भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि की संभावनाओं पर चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि आखिरी बार 1997 में जब भारतीय प्रधानमंत्री दावोस की बैठक में आए थे तो भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 400 अरब डॉलर से कुछ अधिक थी। अब यह उसके छह गुणा से अधिक बढ़ चुका है।

वहीं दूसरी तरफ, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति के लिए विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) का अगला केंद्र मुंबई में स्थापित करने का प्रस्ताव है। फडणवीस ने इस बात की घोषणा दावोस से की। फडणवीस ने ट्वीट में कहा, “यह जानकर प्रसन्नता हुई कि चौथी औद्योगिक क्रांति का अगला डब्ल्यूईएफ केंद्र मुंबई में बनना प्रस्तावित है। यह केंद्र समाज के लाभ के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर आधारित नीतियों के बारे में होगा। यह कृषि के लिए ड्रोन जैसी तकनीकों, एआई, रोबोटिक्स पर विशेष ध्यान देने के साथ सहयोग और ज्ञान साझा करने के लिए विशेषज्ञता का वैश्विक केंद्र होगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App