काशी में कोरोना के हाल पर मीटिंग में मोदी ने याद दिलाया ‘दो गज की दूरी’ का नियम, पर शाह के रोडशो में टूटा प्रोटोकॉल

पीएम ने कहा कि वे वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से भी निरंतर फीडबैक ले रहे हैं। पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में सहायता मिली है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र वाराणसी/कोलकाता | Updated: April 18, 2021 4:16 PM
PM Narendra Modi, Amit Shah rallyप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी के प्रतिनिधियों को दिया दो गज दूरी का मंत्र, उधर अमित शाह की रैली में टूटती दिखीं सारी कोरोना गाइडलाइंस।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोविड-19 संबंधी हालात की समीक्षा के लिए रविवार को एक बैठक की अध्यक्षता की। सुबह करीब 11 बजे हुई इस बैठक में वाराणसी में कोविड-19 से लड़ाई में मदद कर रहे चिकित्सक, शीर्ष अधिकारी और स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी भी शामिल रहे। यहां पीएम ने सभी को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने का संदेश भी दिया। हालांकि, दूसरी तरफ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कुछ ही देर बाद बंगाल के नादिया जिले में छठे चरण के चुनाव के लिए भारी भीड़ के बीच चुनाव प्रचार करते नजर आए।

वाराणसी में बैठक में क्या बोले पीएम?: पीएम ने बैठक में वाराणसी में कोरोना केसों की बढ़ोतरी की पूरी जानकारी ली। उन्होंने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना के रोकथाम के लिए दो गज की दूरी यानी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराया जाए। उन्होंने टीकाकरण प्रक्रिया को तेज करने के लिए भी कहा और अपील की कि अधिकारी 45 साल से ऊपर के ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन के लिए प्रेरित करें और लक्ष्य को जल्द पूरा करें।

करीब एक घंटे चली इस बैठक में पीएम ने जनप्रतिनिधियों से सुझाव भी लिए। यह भी कहा कि बचाव और सतर्कता के साथ इस समय मेडिकल स्टाफ और डॉक्टरों की भूमिका सबसे अहम है। पीएम ने कहा कि वे वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से भी निरंतर फीडबैक ले रहे हैं। पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में सहायता मिली है।

शाह की रैली में बिना मास्क के दिखे लोग: उधर बंगाल के नादिया में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की रैली में बड़ी संख्या में भीड़ जुटी। इनमें से ज्यादातर लोग कोरोना की बुनियादी गाइडलाइनों का पालन भी नहीं कर रहे थे। सोशल डिस्टेसिंग तो दूर की बात कई लोगों के चेहरे पर मास्क भी नहीं था। खुद शाह ने तो मास्क लगाया था, पर उनके बगल में एक नेता माइक लेकर बिना मास्क के ही खड़े थे।

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पहले ही बंगाल में भाजपा का चुनावी अभियान जारी रखने की बात कह चुके हैं। उनकी अधिकतर रैलियों में वे खुद ही बिना मास्क के दिखाई दिए। हालांकि, इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना के बढ़ते केसों के चलते अपनी रैलियां रद्द करने का ऐलान किया है। साथ ही बाकी दलों के नेताओं से भी ऐसा करने की अपील की।

Next Stories
1 कोरोना के बीच चुनावः रैलियों को लेकर PM ट्रोल, ‘सुपर स्प्रेडर’ बता लोग बोले- ट्रूडो मरीजों से मिले, मोदी भाषणों में व्यस्त
2 इंदौर में BJP नेताओं ने कराई ऑक्सीजन टैंकर की पूजा, VIDEO देख बोले लोग- ये कोरोना से मजाक कर रहे हैं
3 काशी में कोरोना के हाल की PM ने की समीक्षा, पूर्व FM का तंज- बंगाल जीतने की जंग में से महामारी को वक्त निकालने का शुक्रिया
ये पढ़ा क्या?
X