ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी की मुंहबोली बहन का निधन, दिल्‍ली बुलाकर प्रधानमंत्री ने प्रोटोकॉल तोड़ बंधवाई थी राखी

उन्होंने पीएम को राखी बांधने की इच्छा इसलिए जताई थी क्योंकि वे अपने पचास साल पहले मर चुके भाई को बहुत याद करती थीं, खासकर रक्षाबंधन के मौके पर उन्हें अपने भाई की बहुत याद आती थी।

अगस्त 2017 में शरबती देवी ने पीएम नरेंद्र मोदी को राखी बांधी थी। (Photo Source: Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुंहबोली बहन शरबती देवी का 104 साल की उम्र में निधन हो गया है। शरबती देवी धनबाद में रहती थीं लेकिन वे मूल रूप से गुजरात की रहने वाली थीं। शरबती देवी का अंतिम संस्कार 11 मार्च को किया जाएगा। पिछले साल शरबती देवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उन्हें राखी बांधने की इच्छा जताई थी। उन्होंने पीएम को राखी बांधने की इच्छा इसलिए जताई थी क्योंकि वे अपने पचास साल पहले मर चुके भाई को बहुत याद करती थीं, खासकर रक्षाबंधन के मौके पर उन्हें अपने भाई की बहुत याद आती थी।

शरबती के पत्र से पीएम मोदी काफी खुश हुए थे और वे उनके आभारी थे कि उन्होंने पीएम की कलाई पर राखी बांधने की इच्छा जताई थी।पीएम नरेंद्र मोदी अपना प्रोटोकॉल तोड़ते हुए शरबती से अपने आधिकारिक निवास पर मिले थे। अगस्त 2017 में राखी के अवसर पर कई स्कूल की बच्चियों ने पीएम मोदी के साथ रक्षाबंधन मनाया और फिर उसके बाद शरबती ने पीएम को राखी बांधी थी। पीएम को राखी बांधकर शरबती काफी खुश हुई थीं जो कि उनके चेहरे पर तस्वीरों में साफ दिखाई दे रही थी।

भारत के पूर्व विभाजन से पहले पैदा हुईं शरबती की शादी धनराज अग्रवाल नाम के एक व्यक्ति के साथ हुई थी। उनके नौ बच्चे हैं, जिनमें से दो की मौत हो चुकी है और उनके पति की भी मृत्यु हो गई है। शरबती अपने पीछे चार बेटे रामअवतार अग्रवाल, राजेंद्र अग्रवाल, महेंद्र अग्रवाल, मोहन अग्रवाल और तीन बेटी लक्ष्मी देवी, रामकली देवी और शारदा देवी को अकेला छोड़ गई हैं। शरबती द्वारा पीएम मोदी को राखी बांधने वाली तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब शेयर की गई थीं। इस तस्वीर के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद यूजर्स ने पीएम की जमकर तारीफ की थी। लोगों का कहना था कि एक आम महिला से राखी बंधवाकर पीएम ने दिल जीत लिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ट्रेन से यात्रा करते हुए कर सकते हैं ब्रेक जर्नी, जानिए कैसे
2 सुरेश भैय्याजी जोशी फिर से चुने गए आरएसएस के सरकार्यवाह, चौथी बार संभालेंगे पद
3 अरविंद केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी को चिट्ठी लिखी, बोले- नहीं सुनी तो 31 से करूंगा भूख हड़ताल
ये पढ़ा क्या?
X