ताज़ा खबर
 

हरिवंश, चाय और उनका आचार-व्यवहार…PM मोदी का ट्वीट है बहाना, Bihar Elections पर है निशाना?

बिहार में इसी साल चुनाव होने हैं औऱ ऐसे में बिहार एनडीए के कई बड़े चेहरों ने भी हरिवंश के साथ राज्यसभा में सांसदों के व्यवहार को बिहार की अस्मिता से जोड़ दिया।

bihar, harivansh, jdu,उप सभापति से गलत आचरण करने के विरोध में 8 सांसदों को निलंबित कर दिया गया है। फाइल फोटो। फोटो सोर्स – Indian Express

राज्यसभा से निलंबित किये जाने के बाद धऱने पर बैठे सांसदों को चाय-नाश्ता कराने के लिए उप सभापति हरिवंश मंगलवार को खुद पहुंचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उप सभापति के इस कदम की जमकर तारीफ की है। पीएम ने अपने ट्वीट में उप सभापति की तारीफ के अलावा बिहार की धरती की भी तारीफ की है। उन्होंने लिखा कि ‘दशकों से बिहार की महान धरती हमें लोकतंत्र का अनमोल पाठ पढ़ाती आई है। बिहार के सांसद और राज्यसभा के डिप्टी स्पीकर हरिवंश जी उसी रास्ते पर चलते हुए सुबह बड़ा दिल दिखाया। उनके इस कदम से लोकतंत्र से प्यार करने वाले को उनपर गर्व होगा।’

बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव है और कई चुनावी विश्लेषक यह भी मानते हैं कि हरिवंश, चाय और उनका आचार-व्यवहार पर पीएम के इस ट्वीट के जरिए कहीं ना कहीं बिहार विधानसभा चुनाव पर निशाना लगाया गया है। बिहार में इसी साल चुनाव होने हैं औऱ ऐसे में बिहार एनडीए के कई बड़े चेहरों ने भी हरिवंश के साथ राज्यसभा में सांसदों के व्यवहार को बिहार की अस्मिता से जोड़ दिया।

खुद बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि जो कुछ रविवार को राज्यसभा में हुआ वह बहुत ही गलत हुआ और उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। उपसभापति हरिवंश के साथ विपक्ष के बर्ताव ने बिहार की प्रतिष्ठा को ‘चोट’ पहुंचायी है। यहां बता दें कि हरिवंश जेडीयू से ही राज्यसभा सांसद हैं।

उप मुख्यमंत्री मोदी ने प्रदेश भाजपा के कैलाशपति मीडिया सेंटर में पत्रकारों से कहा कि राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश बिहार से राज्यसभा के सदस्य और नामचीन पत्रकार हैं। राजद और उसके सहयोगी दलों ने राज्यसभा में आसन के साथ जिस घटना को कल अंजाम दिया, उससे हर बिहारी का सिर शर्म से झुक गया है।

राज्यसभा में जदयू संसदीय दल के नेता आरसीपी ने कहा कि उपसभापति की कुर्सी के पास पहुंचकर हरिवंश पर हमला किया गया। इससे संवैधानिक मर्यादा तार-तार हो गयी। लोकतंत्र में विरोध का स्वर कभी भी अस्वीकार्य नहीं होता लेकिन विरोध जब अराजकता में बदल जाए तो उसका प्रतिकार जरूरी हो जाता है। उपसभापति की कुर्सी पर बैठे हरिवंश पर हमला विपक्ष की इसी अराजक सोच का परिणाम है।

वहीं केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘मैं अपने राज्य (बिहार) के भावनाओं के साथ हूं…हरिवंश सिंह उसी गांव से आते हैं, जो जय प्रकाश नारायण का की जन्मभूमि है। ऐसे बिहार के सपूत के साथ कांग्रेस और आरजेडी ने जो हिमाकत और बेइज्जती की है, इसका बिहार की जनता जवाब देगी। सदन में उन्होंने अपमान सहते हुए भी अपनी शालीनता को नहीं खोया…कांग्रेस और आरजेडी को बिहार में इसका खामियाजा चुकाना होगा।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कृषि बिल पर RS में बवालः विपक्ष का आरोप- आंकड़ा नहीं था, फिर भी हमें न सुना; केंद्रीय मंत्री ने दिया ये जवाब
2 बॉलीवुड में ड्रग्स: बिहार-UP में होती है गांजे-अफीम की खेती, महाराष्ट्र में तो चीनी पैदा होती है- शिवसेना नेता ने बताई केंद्र की नाकामी
3 किसानों को कर के जड़ से साफ, पूंजीपति ‘मित्रों’ का खूब विकास- शायराना अंदाज में कृषि बिल पर राहुल का तंज; कहा- मोदी जी की नीयत ‘साफ़’
यह पढ़ा क्या?
X