ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु में पीएम का जबरदस्त विरोध: ‘मोदी गो बैक’ का गुब्बारा उड़ाया, एयरपोर्ट की छत पर चढ़ा प्रदर्शनकारी

राजनीतिक पार्टी टीवीके का एक कार्यकर्ता चेन्नई एयरपोर्ट की छत पर चढ़ गया और उसने पीएम मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। किसी तरह सुरक्षा बलों ने उसे छत से उतारकर हिरासत में लिया। वहीं, तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके ने पीएम मोदी के दौरे के विरोध में एक बड़ा-सा काला गुब्बारा हवा में लहराया, जिस पर 'मोदी गो बैक' लिखा हुआ था।

narendra modiतमिलनाडु में पीएम मोदी का हुआ जबरदस्त विरोध। (image source-ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को तमिलनाडु के दौरे पर रहे, लेकिन पीएम मोदी को तमिलनाडु में भारी विरोध का सामना करना पड़ा। दरअसल, कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड के गठन में हो रही देरी के कारण तमिलनाडु की कई राजनैतिक पार्टियों और आम लोगों ने पीएम मोदी के तमिलनाडु दौरे का विरोध किया। बता दें कि पीएम मोदी ने गुरुवार को तमिलनाडु के थिरुविदंतई में डिफेंस एग्जीबिशन ‘द डिफेक्सपो’ का उद्घाटन किया। पीएम मोदी के तमिलनाडु का विरोध करते हुए स्थानीय राजनीतिक पार्टी टीवीके का एक कार्यकर्ता चेन्नई एयरपोर्ट की छत पर चढ़ गया और उसने पीएम मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। किसी तरह सुरक्षा बलों ने उसे छत से उतारकर हिरासत में लिया। वहीं, तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके ने पीएम मोदी के दौरे के विरोध में एक बड़ा-सा काला गुब्बारा हवा में लहराया, जिस पर ‘मोदी गो बैक’ लिखा हुआ था।

इनके अलावा, एमडीएमके के कार्यकर्ताओं ने काला झंडा लेकर मार्च किया और पीएम मोदी के दौरे का विरोध किया। एमडीएमके के नेताओं का कहना है कि कावेरी जल विवाद पर पीएम मोदी ने तमिलनाडु के साथ धोखा किया है। बता दें कि कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच जारी कावेरी जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड के गठन का आदेश दिया था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद केन्द्र सरकार ने अभी तक कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड का गठन नहीं किया है, जिससे तमिलनाडु के लोगों में भारी नाराजगी है। इसी के चलते पीएम मोदी के तमिलनाडु दौरे का भारी विरोध किया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि द्रमुक ने मंगलवार को लोगों से अपील की थी कि पीएम मोदी के तमिलनाडु आने के विरोध में काली कमीज या काली साड़ी पहनकर अपना विरोध दर्ज कराएं। इससे पहले विरोध प्रदर्शनों के चलते आईपीएल के मैच भी अब तमिलनाडु में नहीं कराने का फैसला किया गया है। दरअसल, हाल ही में चेन्नई में हुए आईपीएल के मैच के दौरान भारी बवाल हुआ था। कई लोगों ने विरोध के दौरान जूते मैदान के अंदर फेंके। वहीं, कई प्रदर्शनकारियों ने स्टेडियम के अंदर भी घुसने की कोशिश की। राज्य में बढ़ते राजनीतिक पारे को देखते हुए अब आईपीएल के बाकी मैच पुणे में कराने का फैसला किया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जस्टिस कुरियन ने चीफ जस्टिस दीपक को लिखी केंद्र सरकार के खिलाफ चिट्ठी- इतिहास माफ नहीं करेगा
2 दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी सदस्यों पर गंभीर आरोप, महिला बोली- नौकरी के बदले शारीरिक संबंध बनाने की मांग
3 बिल्डर से 150 करोड़ वसूलने कोर्ट पहुंचे महेंद्र सिंह धोनी
ये पढ़ा क्या?
X