ताज़ा खबर
 

मस्जिद में पीएम मोदीः देश ही नहीं विदेशों की इन मस्जिदों में भी जा चुके हैं पीएम मोदी

हाल ही में पीएम मोदी जून माह में सिंगापुर के दौरे पर गए थे। उस दौरान भी वह सिंगापुर की मशहूर चुलिया मस्जिद गए थे। सिंगापुर के संस्कृति मंत्री ग्रेस येन ने मस्जिद में उनकी आगवानी की थी।

पीएम मोदी दाऊदी बोहरा समुदाय के धार्मिक कार्यक्रम के दौरान। (PTI Photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इंदौर में दाऊदी बोहरा समुदाय के एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए। पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ इंदौर के माणिकबाग स्थित सैफी मस्जिद में बोहरा समाज के वाअज (प्रवचन) में शिरकत की। बता दें कि बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन पहली बार इंदौर पहुंचे हैं। यहां 12 सितंबर से उनका धार्मिक कार्यक्रम चल रहा है, इसी कार्यक्रम के दौरान आज पीएम मोदी ने भी शिरकत की। पीएम मोदी के मस्जिद जाने पर अक्सर चर्चाओं का दौर शुरु हो जाता है। लेकिन बता दें कि पीएम मोदी अक्सर मस्जिदों में जाते रहे हैं। ना सिर्फ देश की मस्जिदें बल्कि अपने विदेश दौरों के समय भी पीएम मोदी कई मशहूर मस्जिदों में जा चुके हैं।

हाल ही में पीएम मोदी जून माह में सिंगापुर के दौरे पर गए थे। उस दौरान भी वह सिंगापुर की मशहूर चुलिया मस्जिद गए थे। सिंगापुर के संस्कृति मंत्री ग्रेस येन ने मस्जिद में उनकी आगवानी की थी। इससे पहले पीएम मोदी मई में इंडोनेशिया गए थे। उस दौरान भी पीएम मोदी ने इंडोनेशिया की सबसे मशहूर मस्जिद इश्तकलाल मस्जिद का दौरा किया था। बता दें कि इश्तकलाल मस्जिद अपने शानदार आर्किटेक्ट के कारण दुनियाभर में काफी प्रसिद्ध है। साल 2015 में अपने यूएई दौरे के दौरान भी पीएम मोदी ने वहां की मशहूर शेख जायद ग्रांड मस्जिद का दौरा किया था। आबु धाबी में स्थित शेख जायद मस्जिद भी अपनी भव्य बनावट के कारण दुनियाभर में मशहूर है।

पीएम मोदी मस्जिद के मुद्दे पर उस वक्त भी चर्चा में आए थे, जब साल 2016 में खड़गपुर में एक रैली के दौरान अजान की आवाज आने पर उन्होंने अपना भाषण 3 मिनट के लिए रोक दिया था। ऐसे ही मिलते-जुलते वाक्ये में त्रिपुरा चुनाव में जीत के बाद जब पीएम मोदी दिल्ली में भाषण दे रहे थे, तब भी उन्होंने अजान की आवाज सुनकर अपना भाषण रोक दिया था। अजान के प्रति पीएम मोदी द्वारा सम्मान प्रदर्शित किए जाने की काफी तारीफ भी हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App