ताज़ा खबर
 

हाउडी मोदी के पीछे हैं ये लोग: पीएम को ह्यूस्टन बुलाने के लिए लिखे 25 लेटर, जुटाए 24 लाख डॉलर

हाउडी मोदी कार्यक्रम का आयोजन 6 सदस्यों वाली एक प्रमुख कमेटी कर रही है। इसके अलावा 200 सदस्यों वाली 20 अन्य वर्किंग कमेटी भी हैं। साथ ही बड़ी संख्या में वॉलंटियर भी इस आयोजन से जुड़े हैं।

Author नई दिल्ली | Published on: September 20, 2019 9:14 AM
22 सितंबर को ह्यूस्टन में होगा हाउडी मोदी कार्यक्रम का आयोजन।

 Karishma Mehrotra

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी आगामी अमेरिका यात्रा के दौरान ह्यूस्टन में भारतीय अमेरिकी लोगों के एक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम को ‘हाउडी मोदी’ नाम दिया गया है। यह एक मेगा इवेंट होगा, जिसमें 50,000 के करीब लोग शामिल हो सकते हैं। बता दें कि इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जून में 25 पत्र लिखे गए थे। भारतीय-अमेरिकी मूल के उद्योगपतियों द्वारा इस कार्यक्रम के लिए करीब 2.4 मिलियन डॉलर का फंड इकट्ठा किया गया है। इस मेगा इवेंट के आयोजन के लिए 40 बड़े दानदाताओं और सैंकड़ों छोटे दानदाताओं ने चंदा दिया है।

जून माह में ह्यूस्टन के कुछ भारतीय अमेरिकी प्रोफेशनल्स ने यह सुना कि पीएम मोदी सितंबर में न्यूयॉर्क में आयोजित होने वाली यूएन जनरल असेंबली की बैठक में हिस्सा लेने आ रहे हैं। इसके बाद पीएम मोदी को अपने शहर में बुलाने के लिए ह्यूस्टन के अलावा शिकागो और बोस्टन भी दौड़ में थे, लेकिन ऊर्जा को लेकर मौजूदा समय के माहौल को देखते हुए ऊर्जा की उत्पादन की दृष्टि से अहम शहर ह्यूस्टन को तरजीह मिली। बता दें कि ह्यूस्टन में 1,50,000 भारतीय अमेरिकी लोग रहते हैं।

भाजपा के विदेश मामलों के प्रमुख विजय चुटियावाले ने बताया कि ‘ह्यूस्टन में भारतीय प्रभाव काफी है और यह ऊर्जा के लिहाज से भी काफी अहम है। आज भारत के लिए ऊर्जा सुरक्षा पहली प्राथमिकता है।’ ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम का आयोजन टेक्सास इंडिया फोरम द्वारा किया जा रहा है, जिसका गठन कार्यक्रम के आयोजन के लिए जुलाई माह में ही किया गया था।

टेक्सास इंडिया फोरम के प्रमुख जुगल मलानी का कहना है कि “भारत को ऊर्जा की जरुरत है और ह्यूस्टन के पास काफी ऊर्जा है। इसके चलते एक रणनीतिक साझेदारी संभव है।” कार्यक्रम की बात करें तो इस कार्यक्रम का आयोजन 6 सदस्यों वाली एक प्रमुख कमेटी कर रही है। इसके अलावा 200 सदस्यों वाली 20 अन्य वर्किंग कमेटी भी हैं। साथ ही बड़ी संख्या में वॉलंटियर भी इस आयोजन से जुड़े हैं।

हाउडी मोदी कार्यक्रम के आयोजन के साथ ऑयल फील्ड का सर्वे करने वाली कंपनी के प्रमुख के अलावा ह्यूस्टन में चिन्मया मिशन के संस्थापक, कांग्रेस लॉबिस्ट, एक काउंटी जज आदि लोग जुड़े हैं। इसके अलावा कार्यक्रम का आयोजन करने और चंदा देने वाले लोगों में ऑयल, गैस और एनर्जी कंपनी के मालिक, कॉरपोरेट डोनर्स जैसे वालमार्ट, ओयो यूएसए आदि शामिल हैं।

हाउडी मोदी कार्यक्रम के आयोजनकर्ताओं में टेक्सास इंडिया फोरम के प्रमुख जुगल मलानी के अलावा इंडो-अमेरिका पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के अध्यक्ष गीतेश देसाई भी जुड़े हैं। इंडो अमेरिका पॉलिटिकल एक्शन कमेटी एक लॉबी ग्रुप है, जिसका अमेरिका में रिपब्लिकन और डेमोक्रेट, दोनों पर ही समान प्रभाव है। भारत-अमेरिका न्यूक्लियर डील के लिए भी इस ग्रुप ने लॉबी की थी। इसके साथ ही यूएस द्वारा पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद का ऑडिट कराने के पीछे भी इस ग्रुप ने लॉबी की थी।

गीतेश देसाई को साल 2019 का प्रवासी भारतीय सम्मान अवार्ड भी दिया गया है। इनके अलावा पेट्रोकेमिकल कंपनी Vinmar International के निदेशक और इंडो-अमेरिकन चैंबर ऑफ कॉमर्स, ग्रेटर ह्यूस्टन के निदेशक स्वतंत्र जैन, बायोऊर्जा ग्रुप के संस्थापक अमित भंडारी का नाम भी आयोजनकर्ताओं में शामिल है। उल्लेखनीय है कि टेक्सास इंडिया फोरम में यूनिवर्सिटी ऑफ ह्यूस्टन की अध्यक्ष और चांसलर रेणु खाटोर, चिन्मया मिशन के आचार्य गौरांग नानावटी, उद्योगपति रमेश भौतादा, फोर्टबैंड काउंटी के जज केपी जॉर्ज, गुरुद्वारा कमेटी के सदस्य पॉल लेखरी, बोहरा समुदाय के नेता अभिजेर तैयब और स्टैफोर्ड सिटी के अधिकारी केन मैथ्यूज का नाम भी शामिल है।

हाउडी मोदी कार्यक्रम के आयोजन के लिए पहले 1.2 मिलियन डॉलर का बजट रखा गया था और इसमें 10,000 लोग शामिल होने थे, लेकिन अब यह बजट बढ़कर 2.4 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया है और अब इसमें 50,000 लोग शिरकत करेंगे, इनमें से 8000 लोग तो अमेरिका के अन्य राज्यों से आ रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 BF या दरिंदा? प्रेमिका को फुटबॉलर ने लोहे की रॉड से पीटा, फिर खिलाया पेंट; बाद में ढाया यूं जुल्म
2 दलाई लामा की बिगड़ी सेहत, नए दलाई लामा चुनने को लेकर अमेरिका तय करेगा चीन के लिए सीमाएं
3 अमेरिका में अवॉर्ड से सम्मानित किए गए Super 30 के संस्थापक आनंद कुमार