ताज़ा खबर
 

अटल ब‍िहारी वाजपेयी के पूर्व सलाहकार ने कहा- पड़ोसी धर्म निभाए मोदी सरकार, पाकिस्‍तान की आर्थिक मदद करे

कुलकर्णी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी के सहयोगी भी रह चुके हैं और मौजूदा समय में स्तंभकार के रूप में जाने जाते हैं।

कुलकर्णी ने कहा है कि भारत को अच्छे पड़ोसियों की तरह पाकिस्तान के साथ पेश आना चाहिए। (फोटोः पीटीआई/फेसबुक)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के दिग्गज नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पूर्व राजनीतिक सलाहकार रह चुके सुधींद्र कुलकर्णी ने पाकिस्तान के साथ नए रिश्तों की शुरुआत करने की वकालत की है। उन्होंने सलाह देते हुए कहा है कि भारत की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को कठिन परिस्थितियों में पाकिस्तान की मदद करनी चाहिए। कुलकर्णी ने ये बातें मंगलवार (आठ अगस्त) को एक अंग्रेजी चैनल से बातचीत के दौरान मुंबई में कहीं।

कुलकर्णी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी के सहयोगी भी रह चुके हैं और मौजूदा समय में स्तंभकार के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने बताया, “पाकिस्तान इस वक्त भारी संकट के दौर से गुजर रहा है। वे अमेरिका, चीन, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और अन्य इस्लामिक देशों से मदद मांग रहे हैं। भारत तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। हम आमतौर पर किसी देश से मदद नहीं लेते, बल्कि हम बाकी देशों को ऋण देते हैं। ऐसे में अच्छे पड़ोसी के नाते हमें संकट की स्थिति में पाकिस्तान की मदद करनी चाहिए।”

भारतीय संस्कृति में पड़ोसियों की मदद करने का जिक्र छेड़ते हुए वह आगे बोले, “बेशक हमारे (भारत-पाकिस्तान) के संबंधों में कई सारी समस्याएं हैं। लेकिन इन्हें हल करने के लिए भारत को एक कदम आगे बढ़ाना होगा। अगर हम एक कदम उठाएंगे, तो पड़ोसी भी हमारे अच्छे मकसद को समझेंगे।”

बकौल कुलकर्णी, “इमरान खान ने भारत के बारे में कुछ अच्छी बातें कही थीं। हमारे प्रधानमंत्री ने भी उन्हें फोन कर कहा था कि भारत, पाकिस्तान के साथ नए रिश्तों की शुरुआत करना चाहता है। भारतीय पीएम की ओर से ये बयान बेहद महत्वपूर्ण है।” हालांकि, उन्होंने पाकिस्तान को अच्छा पड़ोसी नहीं बताया। कहा कि पड़ोसी मुल्क कभी भी अच्छा पड़ोसी देश नहीं रहा है। मगर हमें पुरानी बातों को भुला देना चाहिए। अगर हम पुरानी बातों को लेकर बैठे रहेंगे तो हम आगे नहीं बढ़ सकेंगे।

Next Stories
1 मानव तस्करी निरोधक विधेयक को पास कराने के लिए 1000 पीड़ितों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा
2 दलाई लामा बोले- जिन्‍ना पीएम बनते तो नहीं होता भारत का बंटवारा
3 नरेंद्र मोदी सरकार का पलटवार, बयानबाजी से परहेज करें सुप्रीम कोर्ट के जज
यह पढ़ा क्या?
X