ताज़ा खबर
 

VIDEO: कमर भर पानी में जा, मां गंगा को प्रणाम कर पीएम मोदी ने लगाई कुंभ में डुबकी, मंत्रोच्चार के साथ योगी संग की पूजा-अर्चना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रयागराज में पवित्र संगम में डुबकी लगाई और पूजा अर्चना के बाद एक सभा को संबोधित किया।

Author Updated: February 24, 2019 6:02 PM
प्रयागराज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Photo: PTI/ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (24 फरवरी) को प्रयागराज पहुंचे। यहां उन्होंने कमर भर पानी में जाकर पवित्र संगम में स्नान किया। स्नान करने के बाद संगम घाट पर मंत्रोच्चार के साथ उन्होंने पूजा अर्चना की। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ मौजूद रहे। पूजा अर्चना करने के बाद पीएम ने प्रयागराज कुम्भ में स्वच्छाग्रहियों के सम्मान में उनके चरण धोए। कपड़े से उनका पैर साफ किया। उनके इन कार्यों को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स उनकी तारीफ कर रहे हैं।

यूजर्स ने लिखा, “…आप जैसे नेता 100 सालो में एक बार आता है, मोदी जी, आप की जरुरत इस देश को बहुत है, कृपया 2019 में भी आप की बहुमत से सरकार बनाएं, आप को भारत की 130 करोड़ जनता दुबारा प्रधान मंत्री देखना चाहती है। …धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो, प्राणियों मे सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, जय मां गंगे।। हर हर महादेव।। …अदभुत , अकल्पनीय तस्वीर , हमे गर्व है की नरेन्द्र मोदी हमारे प्रधानमंत्री है ॥ भारतीय लोकतंत्र की अत्यन्त सुन्दर छवि ॥”


प्रयागराज में पीएम मोदी ने एक सभा को भी संबोधित किया। उन्होंने कहा, “प्रयागराज में करोड़ों लोग तप, ध्यान और साधना कर रहे हैं। यहां हठ योगी भी है, तपयोगी भी हैं, मंत्रयोगी भी हैं और इन्हीं के बीच मेले की व्यवस्था में लगे मेरे कमर्ठ कर्मयोगी भी हैं। कुम्भ के कर्मयोगियों में साफ सफाई कर रहे स्वच्छाग्रही भी शामिल है। जिन्होंने अपने प्रयासों से कुम्भ के विशाल क्षेत्र में हो रही साफ सफाई को दुनिया में चर्चा का विषय बना दिया हैं। हर व्यक्ति के जीवन में अनेक ऐसे पल आते हैं, जो अविस्मरणीय होते हैं। आज ऐसा ही एक पल मेरे जीवन में आया है, जिन स्वच्छाग्रहियों के पैर मैंने धोये हैं, वो पल जीवनभर मेरे साथ रहेगा।”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “जिस जगह पर बीते हफ्ते में 20-22 करोड़ से ज्यादा लोग जुटे हों, वहां पर व्यवस्था करना बड़ा मुश्किल था। लेकिन आप सभी ने साबित कर दिया है कि दुनिया में नामुमकिन कुछ भी नहीं है। नमामि-गंगे के लिए अनेक स्वच्छाग्रही तो योगदान दे ही रहे हैं, आर्थिक रूप से भी मदद कर रहे हैं। मैंने भी इसमें छोटा सा योगदान किया है। सियोल पीस प्राइज के तौर पर मुझे जो 1.30 करोड़ रुपए की राशि मिली थी, उसको मैंने नमामि-गंगे मिशन के लिए समर्पित कर दिया है। मैं पहले भी प्रयागराज आता रहा हूं, लेकिन गंगा जी की इतनी निर्मलता पहले नहीं देखी है। गंगाजी की ये निर्मलता नमामि-गंगे मिशन की दिशा व सरकार के सार्थक प्रयासों का उदाहरण है। इस अभियान के तहत प्रयागराज में गंगा में गिरने वाले 32 नाले बंद कराए गए हैं।”


नरेंद्र मोदी ने कहा, “आजादी के बाद से हमेशा अक्षय वट को किले में बंद कर के रखा जाता था लेकिन अब अक्षय वट को सभी के लिए खोल दिया गया है। मुझे बताया गया है कि रोज लाखों लोग अक्षय वट और सरस्वती कूप के दर्शन कर पा रहे हैं। पिछली बार मैं जब यहां आया था तो मैंने कहा था कि इस बार का कुंभ अध्यात्म, आस्था और आधुनिकता की त्रिवेणी बनेगा। आज मुझे खुशी है कि आपने अपनी तपस्या से इसको साकार किया है। तपस्या को तकनीक से जोड़कर जो अद्भुत संगम बनाया गया, उसने भी सभी का ध्यान खींचा है।”

पीएम ने कहा, “कुम्भ में यूपी पुलिस ने जो भूमिका निभाई है उसकी भी चर्चा काफी हो रही है। आपका खोया-पाया विभाग तो बच्चों, बुजुर्गों को अपनों से मिला देता है। आपने अपने काम गंभीरता से किए हैं। इसलिए सुरक्षा में लगे लोग भी अभिनंदन के अधिकारी हैं। प्रयागराज में जब कुम्भ लगता हैं तो सारा प्रयागराज ही कुम्भ हो जाता हैं। यहां के निवासी भी श्रद्धेय हो जाते है, प्रयागराज को एक खूबसूरत शहर के रूप में विकसित करने में और कुम्भ के सफल आयोजन करने में यहां के निवासियों ने भी पूरे देश को एक प्रेरणा दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर: कुलगाम मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकी ढेर, डीएसपी सहित दो जवान शहीद, 2 घायल
2 भाजपा सांसद की चेतावनी- जिस दिन हिन्दुओं की आबादी 80% से घटी, समझ लेना देश खतरे में है
3 PM Kisan Samman Nidhi Yojna: 2000 रुपये की पहली किस्‍त जारी, मोदी सरकार के सामने हैं ये 3 चुनौतियां