ताज़ा खबर
 

Lockdown: पीएम मोदी ने कोरोना से कम प्रभावित क्षेत्रों के विभागों को खोलने को लेकर केंद्रीय मंत्रियों से योजना तैयार करने को कहा

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये देशव्यापी बंद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पहली बार वीडियो लिंक के जरिये कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता की। मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य अपने कार्यालयों या आवास से वीडियो लिंक के जरिये बैठक में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पहली बार वीडियो लिंक के जरिये कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता की। (फोटोः एएनआई)

कोरोना वायरस महामारी के कारण घोषित लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोलने के संकेत मिल रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रियों से कहा कि जिन क्षेत्रों की पहचान कोविड-19 हॉट स्पॉट के रूप में नहीं हुई है वहां के विभागों को धीरे-धीरे खोलने के लिए चरणबद्ध योजना बनाएं ।

आधिकारिक बयान के मुताबिक अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार को इस असर को कम करने के लिए युद्ध स्तर पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि मंत्रियों को कामकाज जारी रखने की योजना बनानी चाहिए।

इसके अतिरिक्त पीएम मोदी ने सभी मंत्रियों से कहा कि वे ऐप आधारित कैब/टैक्सी की तरह ‘ट्रक एग्रीगेटर्स’ जैसे नवोन्मेषी तरीके का इस्तेमाल कर किसानों को मंडियों से जोड़ें। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान संकट ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देने और दूसरे देशों पर निर्भरता कम करने का अवसर है।

उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्री राज्यों, जिला प्रशासन के संपर्क में रहें और जो समस्याएं उभर रही हैं उसका हल प्रदान करें। इससे पहले कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये देशव्यापी बंद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पहली बार वीडियो लिंक के जरिये कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता की।

मोदी के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रधानमंत्री आवास पर मौजूद थे जबकि मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य अपने कार्यालयों या आवास से वीडियो लिंक के जरिये बैठक में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री के 7, लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर 25 मार्च को हुई मंत्रिमंडल की पिछली बैठक के दौरान मोदी और अन्य मंत्री कुर्सियों पर एक दूसरे से काफी दूर-दूर होकर बैठे थे। ऐसा कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये सामाजिक दूरी बरकरार रखने के उद्देश्य से किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Covid 19 Crisis: पीएम मोदी समेत सभी सांसदों का एक साल तक 30% वेतन कटेगा, सांसद निधि फंड 2 साल के लिए स्थगित
2 मजदूरों पर तिहरी मार! 92% ने खोया रोजगार, तो 42 प्रतिशत के पास नहीं है पेट भरने का ‘जुगाड़’- सर्वे
3 कोरोना संकट के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था पर संकट के काले बादल! जानकारों ने चेताया- और बढ़ा लॉकडाउन तो स्थितियां होंगी विकट