ताज़ा खबर
 

संसद में पीएम ने किया अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने का ऐलान, सांसदों ने लगाए जय श्री राम के नारे

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को हुई बैठक में ‘‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’’ के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई और यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा।

अयोध्या में राम मंदिर का प्रस्तावित मॉडल। (Express photo: Vishal Srivastav/File)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने का ऐलान किया। पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद सांसदों ने जय श्री राम के नारे लगाए। पीएम मोदी ने कहा, “अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए हमने एक योजना तैयार की है। इसके लिए एक ट्रस्ट बनाया गया है जिसका नाम ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र होगा।’

मोदी ने कहा कि सरकार ने अयोध्या कानून के तहत अधिग्रहीत 67.70 एकड़ भूमि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को हस्तांतरित करने का फैसला किया है।
बुधवार सुबह लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा को बताया कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के आलोक में सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन देने के संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार से आग्रह किया गया था और उत्तर प्रदेश सरकार ने इसे मंजूरी दे दी है।

पीएम कहा कि उन्हें आज इस सदन को और पूरे देश को यह जानकारी देते हुए खुशी हो रही है। मंत्रिमंडल की बैठक में न्यायालय के आदेशों को ध्यान में रखते हुए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। मोदी ने कहा कि भगवान राम के मंदिर के निर्माण और अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना तैयार की गयी है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के गठन का प्रस्ताव पारित किया गया, यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा।’’ उन्होंने कहा कि 9 नवंबर, 2019 को मैं करतारपुर गलियारे के लोकार्पण के लिए करतारपुर में था। गुरुनानक देवजी का 550वां प्रकाश पर्व था और बहुत ही पवित्र वातावरण था। उसी दिव्य वातावरण में मुझे देश की सर्वोच्च अदालत द्वारा राम जन्मभूमि के विषय पर दिए गए ऐतिहासिक फैसले के बारे में पता चला था।

मोदी ने कहा कि नौ नवंबर को फैसला आने के बाद सभी देशवासियों ने बहुत परिपक्वता का उदाहरण दिया था और वह इसके लिए देशवासियों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत में हर पंथ के सभी लोग एक वृहद परिवार के सदस्य हैं। इस परिवार के हर सदस्य का विकास हो, वे सुखी और स्वस्थ हों, इस दिशा में उनकी सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र के साथ काम कर रही है। (भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Election 2020: आखिरी दौर में 4 मुद्दों को मेनिफेस्टो में शामिल कर चार समुदायों को केजरीवाल ने लुभाया, 5 साल में एक बार भी नहीं की इन पर कभी चर्चा
2 Aaj Ki Baat- 05 Feb | भारत-न्यूजीलैंड के बीच पहला वनडे, ऑटो एक्स्पो व डिफेंस एक्स्पो के आगाज के साथ Coronavirus समेत हर खास खबर Jansatta के साथ
3 गोरा बनाने वाली क्रीम, गंजेपन दूर करने वाले तेल या एंटी एजिंग क्रीम के विज्ञापनों पर सरकार सख्त, ऐड में शामिल लोगों को हो सकती है दो साल जेल
यह पढ़ा क्या?
X