ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता सेनानी बता सावरकर को किया जयंती पर याद, लोग बोले- उनका तो कोई योगदान ही न था…

महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ गठबंधन में होने के बावजूद शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय राउत ने सावरकर को श्रद्धांजलि दी और उन्हें भारत रत्न तक करार दे दिया।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: May 28, 2021 12:04 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में सेल्युलर जेल के दौरे पर भी वीर सावरकर को श्रद्धांजलि दी थी। (फोटो- PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता संग्राम में अहम योगदान देने वाले विनायक दामोदर सावरकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने शुक्रवार सुबह ट्वीट किया, ‘‘आजादी की लड़ाई के महान सेनानी और प्रखर राष्ट्रभक्त वीर सावरकर को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन।’’ हालांकि, सोशल मीडिया पर उनके इस ट्वीट पर कमेंट्स की बाढ़ आ गई। जहां कुछ लोगों ने सावरकर को महान नेता कहा, तो वहीं अच्छी-खासी संख्या में लोगों ने सावरकर को स्वतंत्रता सेनानी मानने के दावों पर सवाल खड़े कर दिए।

विनायक दामोदर सावरकर का जन्म 28 मई 1883 को महाराष्ट्र के नासिक के भगूर गांव में हुआ। 1937 में वह हिन्दू महासभा के अध्यक्ष भी चुने गए थे। उन्हें वीर सावरकर के नाम से भी जाना जाता है। नासिक के कलेक्टर की हत्या के आरोप में अंग्रेजों ने 1911 में सावरकर को काले पानी की सजा सुनाई थी। सावरकर की जयंती के मौके पर शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी और उन्हें भारत रत्न तक करार दे दिया। मराठी में किए गए ट्वीट में राउत ने वीर विनायक दामोदर को नमस्कार करते हुए वंदे मातरम भी लिखा। बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना सत्तासीन महाविकास अघाड़ी गठबंधन का हिस्सा है, जिसमें अब तक सावरकर का विरोध कर रही कांग्रेस भी शामिल है।

क्या बोले सोशल मीडिया यूजर्स?: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट पर लोगों ने जमकर कमेंट किए। अरविंद केजरीवाल की सोशल मीडिया टीम संभालने वाले विजय फुलारा ने कहा, “अंग्रेजों से 6 बार लिखित में माफी मांगने वाला सावरकर वीर कैसे?” वहीं, ट्विटर हैंडल @tamrakarbk ने लिखा, “अंग्रेजों से 6 बार माफी मांगने वाला उतना ही वीर है जितना लाखों के सूट बूट पहनने वाला फ़क़ीर है। हिपोक्रेसी की भी सीमा होती है।”

दूसरी तरफ कई यूजर्स ने सावरकर को याद भी किया। सुनील मिश्रा नाम के यूजर ने कहा, “काला पानी की सजा भी जिनके दृढ निश्चय और संकल्प को ना तोड़ सकी, ऐसे वीर सावरकर जी के जन्मदिन पर उन्हें मेरा नमन। उनका नाम देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों में सदैव अंकित रहेगा, और उनका जीवन देश के लिये एक प्रेरणा का स्रोत बना रहेगा।” वहीं मयंक मिश्रा ने लिखा, “प्रखर राष्ट्रवादी, ओजस्वी, माँ भारती के सुपुत्र वीर सावरकर जी के जयंती पर उन्हें शत शत नमन। महान लक्ष्य के लिए किया गया कोई भी बलिदान व्यर्थ नहीं जाता है।”

Next Stories
1 इजराइल-फलस्तीन मुद्दे पर BJP सांसद ने रखा मत, पर Youtube ने हटाया वीडियो; स्वामी बोले- मुकदमा करने पर विचार
ये पढ़ा क्या?
X