ताज़ा खबर
 

…तो पीएम मोदी चाहते हैं हम देसी नस्ल का कुत्ता पालें, कोरोना को लेकर यूथ कांग्रेस ने मोदी सरकार पर कसा तंज

यूथ कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा "जब देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 36 लाख से ज्यादा पहुंच गई हो, एक दिन में 80 हजार से ज्यादा केस आ रहे हो, ऐसी परिस्थिति में पीएम मोदी चाहते हैं कि हम "देसी नस्ल का कुत्ता पालें।"

youth congress, dogs breed, indian dog,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए लोगों को संबोधित करते हैं। (file)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए लोगों को संबोधित करते हैं। कोरोना संकट के बीच 30 अगस्त को इस कार्यक्रम के माध्यम से पीएम ने कुत्तों की नस्ल पर चर्चा की। जिसे लेकर यूथ कांग्रेस ने ट्वीट कर उनपर निशाना साधा है। कांग्रेस का कहना है की देश कोरोना से जूझ रहा है और पीएम मोदी चाहते हैं हम देसी नस्ल का कुत्ता पालें।

यूथ कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा “जब देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 36 लाख से ज्यादा पहुंच गई हो, एक दिन में 80 हजार से ज्यादा केस आ रहे हो, ऐसी परिस्थिति में पीएम मोदी चाहते हैं कि हम “देसी नस्ल का कुत्ता पालें।” यूथ कांग्रेस के इस ट्वीट पर कुछ यूजर्स उन्हें ट्रोल किया तो कुछ ने सहमति जताई। एक यूजर ने लिखा “मोदी देसी कुत्ते पालने की बात कर रहे हैं. एमएम सिंह तो 10 साल तक गूंगे रहे.. देशी कुत्तों से वफा दारी की उम्मीद की जा सकती है।” एक अन्य यूजर ने लिखा “देश बहुत बड़ी बेरोजगार युवाओं की समस्या से जूझ रहा है लेकिन मोदी जी अब भी मन की बात कर रहे हैं ऐसा लगता है चौकिदार तो गयो इस बार।”

‘मन की बात’ कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कहा, ‘इस स्‍वतंत्रता दिवस पर दो जांबाज किरदारों की खबर पर मेरा ध्‍यान गया। ये हैं सोफी और विदा जो कि इंडियन आर्मी के डॉग्‍स हैं। इन्हें हाल ही में चीफ ऑफ आर्मी स्‍टाफ कमंडेशन कार्ड से सम्‍मानित किया गया है। इन्‍होंने देश की रक्षा करते हुए कर्तव्‍य बखूबी निभाया है। ये डॉग देश के लिए जीते हैं देश के लिए बलिदान तक दे देते हैं। इन्‍होंने बम धमाकों और आतंकी साजिश को रोकने में अहम भूमिका निभाई है।’

इसके बाद भारतीय डॉग्‍स की खूबी बताते हुए प्रधानमंत्री बोले, ‘मुझे बताया गया कि इंडियन ब्रीड के डॉग भी बहुत अच्‍छे होते हैं। मुधोल हाउंडहिमाचली हाउंड, राजापलायम, कन्‍नी, चिप्‍पीपलाई, कोम्‍बाई शानदार इंडियान ब्रीड हैं। इनको पालने में खर्च भी काफी कम है। ये भारत के माहौल में ढले भी होते हैं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अवमानना केसः सजा के बाद राजीव धवन ने प्रशांत भूषण को तुरंत दिया 1 रुपये का सिक्का, BJP महिला नेता ने कसा तंज
2 पूर्व लद्दाख में दादागिरी पर अड़ा चीन, भारत को फिर ‘उकसाया’; दोष मढ़ बोला- PLA ने नही लांघी LAC
3 कांग्रेस की हार पर अंखी दास ने लिखा था- 30 साल के जमीनी काम से भारत को स्टेट सोशलिज्म से मुक्ति मिली, फेसबुक विवाद में वॉल स्ट्रीट जर्नल का नया खुलासा
IPL 2020 LIVE
X