ताज़ा खबर
 

चीन से तनातनी के बीच अचानक लद्दाख पहुंचकर नरेंद्र मोदी ने चौंकाया, जाना था RM को पहुंच गए PM

प्रधानमंत्री, रक्षा स्टाफ के प्रमुख जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के साथ, आज सुबह लद्दाख के निमू स्थित फॉरवड पोजिशन पहुंचे। यहां पीएम ने सेना, वायु सेना और आईटीबीपी के कर्मियों के साथ बातचीत की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लद्दाख के निमू स्थित फॉरवड पोजिशन पर उपस्थित हैं। (PC -ANI)

भारत और चीन सेना के बीच पूर्वी लद्दाख के गालवान में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के मारे जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को लेह, लद्दाख में चल रहे सीमा संघर्ष की समीक्षा करने पहुंचे। मई के शुरू में सीमा गतिरोध के बाद से इस क्षेत्र में कार्यकारी नेतृत्व से यह पहली हाई प्रोफाइल यात्रा है।

प्रधानमंत्री, रक्षा स्टाफ के प्रमुख जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे के साथ, आज सुबह लद्दाख के निमू स्थित फॉरवड पोजिशन पहुंचे। यहां पीएम ने सेना, वायु सेना और आईटीबीपी के कर्मियों के साथ बातचीत की। प्रधानमंत्री से बातचीत के दौरान जवान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बैठे थे। पीएम ने लेह के नीमू में जवानों के साथ करीब आंधे घंटे बातचीत की।

पीएम संघर्ष में घायल हुए सैनिकों के साथ-साथ XIV कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह, सहित स्थानीय सैन्य नेतृत्व से मिलने वाले हैं। निमू एक फॉरवड पोजिशन है जो 11,000 फीट की ऊंचाई पर है। यह सबसे कठिन इलाकों में से एक है। यह सिंधु नदी के तट पर स्थित है और ज़ांस्कर रेंज से घिरा हुआ है।

पिछले रविवार को अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात संबोधन के दौरान सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम मोदी ने कहा था “लद्दाख में भारतीय धरती पर बुरी नजर डालने वालों को करारा जवाब मिला है। भारत दोस्ती की भावना का सम्मान करता है तो आंख में आंख डालकर जवाब देना भी जानता है। लद्दाख में शहीद हुए सैनिकों को पूरा देश नमन कर रहा है। उन पर सभी देशवासियों को गर्व है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत अपनी संप्रभुता, स्वाभिमान और अपनी सीमाओं की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुरुआत में सेना प्रमुख के साथ आज लद्दाख जाने वाले थे, लेकिन उनकी यात्रा गुरुवार को टाल दी गई। मई में गतिरोध शुरू होने के बाद से यह सेना प्रमुख की तीसरी लद्दाख यात्रा है। उन्होंने अपनी पहली यात्रा पर लेह में XIV कॉर्प्स मुख्यालय का दौरा किया, जबकि अपनी दूसरी पर, उन्होंने घायल सैनिकों से मुलाकात की और आगे के क्षेत्रों का दौरा किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सरकार प्राइवेट लैंड पर नई रेल लाइन बनाकर चलाए प्राइवेट ट्रेन, आम आदमी पर डाका क्यों? कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने पूछे तीन सवाल
2 …तो संजय गांधी के नक्शे कदम पर चल रहीं प्रियंका? यूपी में बेस बनाकर दोहराना चाह रही 1980 की कामयाबी की कहानी
3 LAC पर भारत-चीन के टकराव के बीच लद्दाख पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 11 हजार फीट पर सैन्यकर्मियों से की बातचीत
IPL 2020 LIVE
X