ताज़ा खबर
 

PM मोदी का न्‍यू ईयर रेजॉल्‍यूशन: 2016 में कम ही विदेश जाएंगे, देश पर रहेगा पूरा फोकस

पीएम मोदी की विदेश यात्राओं को लेकर विपक्ष ने भी उन पर कई बार निशाना साधा। विपक्ष का आरोप रहा है कि विदेशी दौरों से देश को कुछ हासिल नहीं हुआ। कांग्रेस ने तो मोदी को 'एनआरआई पीएम' तक बता डाला।

Author नई दिल्‍ली | January 2, 2016 9:12 AM
लंदन में 12वीं शताब्दी के दार्शनिक बसवेश्वर की प्रतिमा का अनावरण करते भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (पीटीआई फोटो)

2015 में लगातार विदेश दौरों को लेकर विपक्ष के निशाने पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2016 में विदेश नीति की जगह देश पर ज्‍यादा फोकस करेंगे। पीएमओ के हवाले से मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक इस साल पीएम ज्‍यादा वक्‍त देश में बिताएंगे। पिछले 19 महीनों में नरेंद्र मोदी 33 देशों की यात्रा कर चुकर चुके हैं।

2015 में मोदी ने 26 देशों का दौरा किया। इस दौरान 65 दिन देश से बाहर रहे। साल के अंत में पाकिस्तान की सरप्राइज विजिट पर लाहौर गए। 2004 के बाद किसी भारतीय पीएम की यह पहली पाकिस्तान यात्रा थी। हालांकि, यह राजकीय दौरा नहीं था। जानकारी के मुताबिक 2016 में पीएम मोदी अमेरिका, वेनेजुएला, चीन का दौर कर सकते हैं।

एक आरटीआई के जरिए सामने आई जानकारी के मुताबिक, सितंबर 2015 तक नरेंद्र मोदी की विदेश यात्रा पर 37.22 करोड़ रुपए खर्च हुए। उस वक्‍त तक पीएम मोदी ने 16 देशों के दौरे किए थे। आरटीआई के अनुसार सभी विदेशी दौरों में प्रधानमंत्री मोदी का ऑस्ट्रेलिया दौरा सबसे महंगा रहा। वहां किराए की कारों पर कुल 2.40 करोड़ रुपए खर्च किए गए, जबकि ऑस्ट्रेलिया में भारतीय दूतावास ने प्रधानमंत्री के ठहरने के लिए 5.60 करोड़ रुपए खर्च किए।

ऑस्ट्रेलिया के बाद सबसे महंगे दौरे की श्रेणी में अमेरिका, जर्मनी, फिजी, और चीन का स्थान आता है। वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री मोदी का सबसे सस्ता दौरा भूटान का रहा। वहां सिर्फ 41.33 लाख रुपए खर्च हुए। मोदी के सितंबर 2014 में अमेरिकी दौरे के दौरान न्यूयॉर्क में उनकी सुरक्षा में लगे एसपीजी (विशेष सुरक्षा दस्ता) के होटल में ठहरने का खर्च 9.16 लाख रुपए आया था। जबकि प्रधानमंत्री, विदेश मंत्रालय और पीएमओ के अधिकारियों के लिए 11.51 लाख रुपए में होटल में कमरे बुक कराए गए थे। कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने तो मोदी सरकार को सूट-बूट की सरकार कहना शुरू कर दिया है। देखना रोचक होगा कि अगले साल मोदी के विदेश दौरे कितनी चर्चा बटोरते हैं।

पीएम मोदी की विदेश यात्राओं को लेकर विपक्ष ने भी उन पर कई बार निशाना साधा। विपक्ष का आरोप रहा है कि विदेशी दौरों से देश को कुछ हासिल नहीं हुआ। कांग्रेस ने तो मोदी को ‘एनआरआई पीएम’ तक बता डाला। पार्टी का आरोप है कि मोदी के विदेशी दौरों में भीड़ जुटाई जाती है।

Read Also:

J&K में लहराए गए पाकिस्‍तान, ISIS के झंडे, प्रदर्शनकारियों ने हाफिज सईद के पोस्‍टर लेकर की पत्‍थरबाजी

2016 में इन 16 सवालों के जवाब दिए तो बिहार जैसी हार से बच सकते हैं मोदी

राशिफल 2016: मोदी का होगा अपनों से टकराव, अमित शाह को झेलनी होगी हार, केजरीवाल के सितारे बुलंद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App