ताज़ा खबर
 

सेहत योजना शुरू कर पीएम मोदी बोले- जो लोग दिन रात कोसते हैं, मैं उन्हें आईना दिखा रहा हूं

जम्मू-कश्मीर में प्रधानमंत्री मोदी ने PM-JAY सेहत योजना की शुरुआत करते हुए विपक्ष को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, ये उपदेश देने वालों की कथनी और करनी में अंतर है।

pm modi, sehat schemeप्रधानमंत्री मोदी ने जम्मू-कश्मीर में की सेहत योजना की शुरुआत। तस्वीर- ANI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री जन आरोग्य सेहत योजना की शुरूआत की। इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस और विपक्षी दलों को भी निशाने पर ले लिया। वह जम्मू-कश्मीर में हुए डीडीसी चुनाव की बात कर रहे थे। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोग दिल्ली में दिन रात कोसते रहते हैं और लोकतंत्र सिखाते रहते हैं लेकिन उनकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है। मोदी ने कहा, ‘दिल्ली में कुछ लोग सुबह शाम मोदी को कोसते रहते हैं। अपशब्दों को प्रयोग करते हैं और आए दिन लोकतंत्र सिखाने के लिए नए नए तरीके बताते रहते हैं। मैं उन्हें आईना दिखा रहा हूं।’

पीएम ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर को देखिए। यूटी बनने के इतने कम समय में त्रिस्त्रीय व्यवस्था को आगे बढ़ाया। दूसरी ओर पुदुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी पंचायत के चुनाव नहीं हो रहे हैं। मुझे जो लोग रोज लोकतंत्र का पाठ पढ़ाते हैं उनकी पार्टी वहां राज कर रही है। वहां की सरकार का लोकतंत्र में भरोसा नहीं है। पुदुचेरी में 10 साल इंतजार के बाद 2006 में चुनाव हुए थे। इन राजनीतिक दलों की कथनी और करनी में कितना अंतर है, इस बात से पता चलता है। इतने साल हो गए पुदुचेरी में पंचायत के चुनाव नहीं होने दिए जा रहे हैं। केंद्र सरकार लगातार कह रही है कि गांव के विकास में गांव के लोगों की भूमिका सबसे ज्यादा रहे। ‘

उन्होंने कहा, ‘मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को कहना चाहूंगा कि आपने लोकतंत्र को मजबूत किया। डीडीसी के चुनाव में आपने नया अध्याय लिखा है। मैं देख रहा था कि कोरोना और सर्दी के बाावजूद, बुजुर्ग, महिलाएं भी घंटों तक कतार में खड़े रहे। जम्मू-कश्मीर के हर चेहरे पर विकास के लिए उमंग नजर आई। मैंने जम्मू-कश्मीर की आँखों में अतीत को पीछे छोड़ते हुए बेहतर भविष्य का विश्वास देख लिया है। यहां के लोगों ने लोकतंत्र की जड़ों को और मजबूत करने का काम किया है। जम्मू-कश्मीर का चुनाव गांधी का ग्राम स्वराज का सपना जीता है।’

‘छोड़ दिया सत्ता का सुख’
प्रधानमंत्री ने कहा प्रदेश की पंचायती राज की व्यवस्था ने जम्मू-कश्मीर में पूर्णता हासिल की है। यह नए युग का आरंभ है। हमने लोकतांत्रिक संस्थाओँ को मजबूत करने के लिए दिन रात प्रयास किया है। एक समय था हम लोग जम्मू-कश्मीर की सरकार का हिस्सा थे। लेकिन हमने उस सत्ता सुख को छोड़ दिया था। हम सरकार से बाहर आ गए थे। हमारा मुद्दा यही था कि पंचायतों का चुनाव कराया जाए और गांव गांव के नागरिकों को उनका हक दो। इस मुद्दे पर हमने सरकार छोड़ दी थी।
नई योजना, ‘सेहत’ की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में स्वास्थ्य पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इसी के तहत आज प्रधानमंत्री जन आरोग्य की सेहत योजना शुरू की गई है। सेहत योजना के बाद करीब 21 लाख परिवारों को लाभ मिलेगा। बीते दो सालों में डेढ़ करोड़ से ज्यादा गरीबों ने आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाया है। इससे जम्मू-कश्मीर के लोगों को भी बहुत मदद मिली है। इससे पांच लाख तक का मुफ्त इलाज हो जाता है। इस स्कीम का एक और लाभ होगा, आपका इलाज केवल जम्मू-कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि देश के हजारों अस्पतालों में इसकी सुविधा मिलेगी।’

J&K को नरेंद्र मोदी से सेहतमंद सौगात!
सरकार के मुताबिक, पीएम-जय के परिचालन विस्तार से 15 लाख (लगभग) अतिरिक्त परिवारों को लाभ होगा। यह योजना बीमा मोड पर पीएम-जय के साथ मिलकर संचालित होगी। इस योजना का लाभ पूरे देश में कहीं भी उठाया जा सकता है। पीएम-जेएवाई योजना के तहत सूचीबद्ध अस्पताल इस योजना के तहत भी सेवाएं प्रदान करेंगे। सार्वभौम स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) में स्वास्थ्य संवर्धन से लेकर रोकथाम, उपचार, पुनर्वास और आवश्यक, गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं का पूरा स्पेक्ट्रम और चिकित्सकीय देखभाल शामिल है। इसके माध्यम से सेवाओं तक सभी की पहुंच होती है, लोगों को अपनी जेब से स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भुगतान करने की जरूरत नहीं पड़ती है और इलाज के चलते लोगों के गरीबी के दलदल में फंसने का जोखिम कम करता है।

Next Stories
1 100 दिन भेड़ की तरह जीने से बेहतर है 1 दिन शेर की तरह जियो…LAC के पास ITBP का बोर्ड, बोली- हैं खूब चौकन्ने, चीन नहीं चौंका सकता
2 UP में ‘गाय बचाओ’ यात्रा निकालने पर अड़े कांग्रेसी, तो प्रदेश अध्यक्ष समेत 150 से अधिक कार्यकर्ता अरेस्ट
3 किसानों के सवाल बड़े हैं या 2000 रुपए का सम्मान? ‘सम्मान निधि’ ट्रांसफर पर रवीश कुमार ने उठाया सवाल, पोस्ट वायरल
ये पढ़ा क्या?
X