ताज़ा खबर
 

राष्ट्र के नाम संबोधन में मोदी ने किया इस देश के पीएम का जिक्र, ये थी वजह

त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए।

PM Modi, Chinese App,राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान पीएम मोदी। (फोटो-ANI)

पीएम मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में बुल्गेरिया के प्रधानमंत्री बॉयको बोरिसोव का जिक्र किया। उनके ऊपर पिछले दिनों मास्क ना पहनने पर 13 हजार रुपए का जुर्माना लगा है। दरअसल बुल्गेरिया में कोरोना वायरस के मामले दोबारा बढ़ने के बाद देश में नियम फिर से लागू कर दिए गए थे। इस दौरान पीएम बोरिसोव एक मॉनेस्ट्री के दौरे पर गए थे जिसका टेलिकास्ट टीवी पर हुआ था और फेसबुक पर भी शेयर हुआ था। फुटेज और तस्वीरों में दिखाई दिया कि राइला मॉनेस्ट्री के अंदर पीएम बिना मास्क पहने पहुंच गए थे जबकि उसी दिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क पहनना अनिवार्य किया था।

बता दें कि पीएम मोदी ने अपने संबोधन में एक बार फिर से वोकल फॉर लोकल पर जोर दिया। उन्होंंने कहा कि हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन रात काम करेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि, हम सारी एहतियात बरतते हुए Economic Activities को और आगे बढ़ाएंगे। हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन रात एक करेंगे। हम सब ‘लोकल के लिए वोकल’ होंगे। इसी संकल्प के साथ हम 130 करोड़ देशवासियों को मिलजुल कर के, संकल्प के साथ काम भी करना है, आगे भी बढ़ना है।

उन्होंने देश में गरीबों की मदद के लिए प्रधानमंत्री गरीब परिवार कल्याण अन्न योजना का विस्तार करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है। इस दौरान गरीब परिवारों को राशन के साथ-साथ एक किलो चना भी दिया जाएगा।

Weather Forecast Today Live Updates

पीएम मोदी ने टैक्सपेयर्स और किसानों की तारीफ करते हुए कहा कि, आज गरीब को, ज़रूरतमंद को, सरकार अगर मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय दो वर्गों को जाता है। पहला- हमारे देश के मेहनती किसान,  हमारे अन्नदाता।  और दूसरा- हमारे देश के ईमानदार टैक्सपेयर।आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है, अपना दायित्व निभाया है, इसलिए आज देश का गरीब, इतने बड़े संकट से मुकाबला कर पा रहा है।मैं आज हर गरीब के साथ ही,  देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का ह्रदय से बहुत बहुत अभिनंदन करता हूं।।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था।अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है।विशेषकर कन्टेनमेंट जोंस पर हमें बहुत ध्यान देना होगा।जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा,  रोकना होगा और समझाना भी होगा। लॉकडाउन के दौरान देश की सर्वोच्च प्राथमिकता रही कि ऐसी स्थिति न आए कि किसी गरीब के घर में चूल्हा न जले।

केंद्र सरकार हो, राज्य सरकारें हों, सिविल सोसायटी के लोग हों, सभी ने पूरा प्रयास किया कि इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई-बहन भूखा न सोए। देश हो या व्यक्ति, समय पर फैसले लेने से,  संवेदनशीलता से फैसले लेने से,  किसी भी संकट का मुकाबला करने की शक्ति बढ़ जाती है।  इसलिए, लॉकडाउन होते ही सरकार, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई।

संबोधन के अंत में पीएम मोदी ने कहा कि, फिर से एक बार मैं आप सब से प्रार्थना करता हूँ, आपके लिए भी प्रार्थना करता हूँ, आपसे आग्रह भी करता हूँ , आप सभी स्वस्थ रहिए, दो गज की दूरी का पालन करते रहिए, गमछा , फेस कवर, मास्क ये हमेशा उपयोग कीजिये, कोई लापरवाही मत बरतिए।।

Live Blog

Highlights

    11:19 (IST)01 Jul 2020
    वीडियो के जरिए देखिए पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन

    10:47 (IST)01 Jul 2020
    मुफ्त राशन योजना की अवधि नवंबर तक बढ़ाना राजनीति से प्रेरित कदम: माकपा नेता मोहम्मद सलीम

    माकपा के पोलित ब्यूरो के सदस्य मोहम्मद सलीम ने मंगलवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) का विस्तार राजनीति से प्रेरित कदम है और बिहार चुनावों को ध्यान में रखकर उठाया गया है। उन्होंने दावा किया कि देश के पास खाद्यान्न का 10 लाख करोड़ मैट्रिक टन का भंडार है जो आवश्यकता से तीन गुना अधिक है। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन बिहार चुनाव को देखते हुए प्रधानमंत्री ने छठ पूजा तक ही मुफ्त राशन योजना की घोषणा की।’’ सलीम ने केंद्र से सभी को दिसंबर तक मुफ्त राशन देने की मांग की। राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में मंगलवार को प्रधानमंत्री ने पीएमजीकेएवाई का विस्तार दीवाली और छठ पूजा तक यानि नवंबर महीने के आखिर तक करने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि इस योजना के तहत सरकार 80 करोड़ से ज्यादा गरीब भाई-बहनों को, परिवार के हर सदस्य को हर महीने पांच किलो गेहूं या पांच किलो चावल मुफ्त मुहैया करायेगी।

    10:17 (IST)01 Jul 2020
    पीएम के संबोधन पर विपक्ष आग-बबूला- 17 बार भारत का नाम लिया, एक बार भी चीन का नाम नहीं लिया

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन के दौरान भारत का नाम 17 बार लिया। लेकिन उन्होंने एक बार भी चीन का नाम नहीं लिया। पीएम मोदी के इस संबोधन पर विपक्षी पार्टियां निशाना साध रही हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने  शायराना अंदाज में पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने शाहब ज़ाफरी के शेर का जिक्र करते हुए लिखा है,''तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि क़ाफ़िला कैसे लुटा, मुझे रहज़नों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है।'

    09:43 (IST)01 Jul 2020
    पूर्व सांसद पप्पू यादव ने ट्वीट कर कथित तौर पर पीएम मोदी पर निशाना साधा
    09:01 (IST)01 Jul 2020
    मोदी ने अपने भाषण में क्यों किया इस देश के पीएम का जिक्र

    पीएम मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में बुल्गेरिया के प्रधानमंत्री बॉयको बोरिसोव का जिक्र किया जिनके ऊपर पिछले दिनों ऊपर मास्क न पहनने पर 13, हजार रुपये का जुर्माना लगा है। बुल्गेरिया में कोरोना वायरस के मामले दोबारा बढ़ने के बाद देश में नियम फिर से लागू कर दिए गए थे। इस दौरान पीएम बोरिसोव एक मॉनेस्ट्री के दौरे पर गए थे जिसका टेलिकास्ट टीवी पर हुआ था और फेसबुक पर भी शेयर हुआ था। फुटेज और तस्वीरों में दिखाई दिया कि राइला मॉनेस्ट्री के अंदर पीएम बिना मास्क पहने पहुंच गए थे जबकि उसी दिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क पहनना अनिवार्य किया था।

    08:14 (IST)01 Jul 2020
    पीएम के संबोधन का बांग्ला, मराठी, पंजाबी और गुजराती सहित कई भाषाओं में रूपांतरण

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने हिन्दी संबोधन का बांग्ला, मराठी, पंजाबी और गुजराती सहित कई भाषाओं में किया गया रूपांतरण देश से साझा किया।इस संबोधन में प्रधानमंत्री ने ऐलान किया कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है। इससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा।

    07:16 (IST)01 Jul 2020
    भाजपा नेताओं ने ‘अन्न योजना’ के विस्तार को सराहा, गरीबों के प्रति मोदी सरकार की कटिबद्धता बताया

    ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’के विस्तार की घोषणा की तारीफ करते हुए भाजपा नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने कहा कि कोरोना वायरस संकट के बीच यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार की गरीबों के कल्याण की प्रतिबद्धता को दर्शाती है।

    06:28 (IST)01 Jul 2020
    पीएम की घोषणा से बाहर से आने वाले लोगों को फायदा: सुशील मोदी उपमुख्यमंत्री बिहार

    ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’के विस्तार की घोषणा की तारीफ करते हुए भाजपा नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि लोग छठ का पर्व मनाने के लिए बिहार आते हैं। इस मुफ्त राशन का ये लाभ मिलेगा कि जो लोग बाहर से आए हैं वो छठ तक यहां पर रुक पाएंगे। रोजगार कल्याण योजना के अंतर्गत बाहर से आए श्रमिकों को यहीं काम उपलब्ध करवाने के हम पूरे प्रयास कर रहे हैं।

    21:57 (IST)30 Jun 2020
    रोजगार कल्याण योजना के तहत श्रमिकों को काम दिलाने का प्रयास करेंगे: सुशील मोदी

    बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लोग छठ का पर्व मनाने के लिए बिहार आते हैं। इस मुफ्त राशन का ये लाभ मिलेगा कि जो लोग बाहर से आए हैं वो छठ तक यहां पर रुक पाएंगे। रोजगार कल्याण योजना के अंतर्गत बाहर से आए श्रमिकों को यहीं काम उपलब्ध करवाने के हम पूरे प्रयास कर रहे हैं।

    20:21 (IST)30 Jun 2020
    17 बार भारत का जिक्र, चीन का नाम नदारद

    पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन के दौरान भारत का नाम 17 बार लिया। लेकिन उन्होंने एक बार भी चीन का नाम नहीं लिया। पीएम मोदी के इस संबोधन पर विपक्षी पार्टियां निशाना साध ही हैं।

    18:51 (IST)30 Jun 2020
    पीएम मोदी के एलान पर क्या बोलीं ममता बनर्जी

    पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान की गई घोषणाओं को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार को देश की पूरी आबादी को मुफ्त राशन देना चाहिए। सीएम ममता ने ऐलान किया कि बंगाल में जून 2021 तक लाभार्थियों को मुफ्त राशन दिया जाएगा।

    17:03 (IST)30 Jun 2020
    पूरे देश में लागू हो रही वन नेशन वन राशन कार्ड की व्यवस्था

    पीएम मोदी ने कहा कि अब पूरे भारत के लिए एक राशन-कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है यानि एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड ‘one nation one ration card’। इसका सबसे बड़ा लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा, जो रोज़गार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गाँव छोड़कर के कहीं और जाते हैं।

    16:39 (IST)30 Jun 2020
    अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों मिला मुफ्त अनाज: PM Modi

    पीएम मोदी ने कहा कि एक तरह से देखें तो, अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों को, ब्रिटेन की जनसंख्या से 12 गुना अधिक लोगों को, और यूरोपियन यूनियन की आबादी से लगभग दोगुने से ज्यादा लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया है।

    16:36 (IST)30 Jun 2020
    किसानों और टैक्सपेयर्स की तारीफ की

    पीएम मोदी ने किसानों और टैक्सपेयर्स की तारीफ की , उन्होंने कहा कि आज गरीब को, ज़रूरतमंद को, सरकार अगर मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय दो वर्गों को जाता है। पहला- हमारे देश के मेहनती किसान, हमारे अन्नदाता। और दूसरा- हमारे देश के ईमानदार टैक्सपेयर।आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है, अपना दायित्व निभाया है, इसलिए आज देश का गरीब, इतने बड़े संकट से मुकाबला कर पा रहा है।मैं आज हर गरीब के साथ ही, देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का ह्रदय से बहुत बहुत अभिनंदन करता हूं।

    16:23 (IST)30 Jun 2020
    ‘लोकल के लिए वोकल’ पर जोर

    पीएम मोदी ने कहा कि, हम सारी एहतियात बरतते हुए Economic Activities को और आगे बढ़ाएंगे। हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन रात एक करेंगे। हम सब ‘लोकल के लिए वोकल’ होंगे। इसी संकल्प के साथ हम 130 करोड़ देशवासियों को मिलजुल कर के, संकल्प के साथ काम भी करना है, आगे भी बढ़ना है।

    16:14 (IST)30 Jun 2020
    प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का होगा विस्तार

    त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है।

    16:11 (IST)30 Jun 2020
    जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए

    बीते तीन महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं। इस दौरान 9 करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। एक और बड़ी बात है जिसने दुनिया को भी हैरान किया है, आश्चर्य में डुबो दिया है। वो ये कि कोरोना से लड़ते हुए भारत में, 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को 3 महीने का राशन, यानि परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त दिया गया।

    15:32 (IST)30 Jun 2020
    संबोधन से पहले पीएम मोदी ने की बैठक

    संबोधन से पहले पीएम मोदी ने कोरोना वायस वैक्सीन को लेकर एक बैठक की। पीएम ने कोरोना वायरस के टीके को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान पीएम मोदी ने निर्देश दिए कि  इस तरह के बड़े पैमाने पर टीकाकरण के लिए विस्तृत योजना तत्काल बनाई जानी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को प्रभावशाली और समय पर टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न प्रौद्योगिकी उपकरणों का मूल्यांकन करने का निर्देश दिया।

    15:27 (IST)30 Jun 2020
    इससे पहले 12 मई को किया था संबोधित

    पीएम मोदी ने पिछली बार देश को 12 मई को संबोधित किया था जब उन्होंने अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज की घोषणा की थी। रविवार को प्रसारित हुए ‘मन की बात’ कार्यक्रम में मोदी ने कहा था कि भारत ने लद्दाख में अपनी भूमि पर बुरी नजर डालने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया है।

    15:24 (IST)30 Jun 2020
    इन मुद्दों पर हो सकती है बात

    पीएम मोदी भारत चीन और सीमा विवाद को लेकर दो टूक बयान दे सकते हैं। इसके अलाव देश में चल रहे कोरोना के प्रकोप  को लेकर भी पीएम मोदी अपने विचार रख सकते हैं। देश में अनलॉक.2 की प्रक्रिया जारी है ऐसे में पीएम मोदी इसे लेकर भी निर्देश जारी कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि देश के विद्यार्थियों के लिए भी पीएम मोदी कोई संदेश दे सकते हैं।

    15:03 (IST)30 Jun 2020
    अमित शाह ने की अपील

    पीएम मोदी के संबोधन को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों से अपील की है कि पीएम मोदी के  संबोधन को सभी लोग सुनें। बता दें कि पीएम मोदी का यह संबोधन ऐसे समय हो रहा है जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। 

    14:21 (IST)30 Jun 2020
    कोरोना काल में पीएम मोदी का छठा संबोधन

    देश में बढ़ते कोरोना के मामले के बीच पीएम मोदी का यह देश के नाम छठा संबोधन हैं। इससे पहले वह 19 मार्च, 24 मार्च, 3 अप्रैल, 14 अप्रैल और 12 मई को देश को संबोधित कर चुके हैं। वह अब आज यानी 30 जून को देश को संबोधित करने जा रहे हैं।

    Next Stories
    1 गलवान घाटी में भारतीय सेना ने तैनात किए टी-90 टैंक, चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी
    2 सीएम होकर भी अपने चहेते को मंत्री नहीं बना पा रहे शिवराज सिंह, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया कर रहे कड़ी सौदेबाजी, बड़े नेतााओं ने भी खड़े किए हाथ
    3 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बताएं कि हमारे क्षेत्र से चीन की सेना को कब और कैसे निकालेंगे- राहुल गांधी