अब PM मोदी बोले- रेप पर राजनीति नहीं, तब चुनावी भाषण में सोनिया-राहुल पर बोला था हमला

उन्नाव और कठुआ गैंगरेप पर देश में उठते सवालों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेप की घटनाओं पर राजनीति न करने की अपील की है। जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में वे बलात्कार की घटनाओं पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर हमला बोल कर उनसे जवाब मंगते थे।

सत्ता में आने से पहले और सत्ता में आने के बाद नरेंद्र मोदी के बलात्कार को लेकर दिए गए बयान।

उन्नाव और कठुआ गैंगरेप पर देश में उठते सवालों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेप की घटनाओं पर राजनीति नहीं करने की अपील की है। लंदन के ऐतिहासिक वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में मोदी ने कहा,”बलात्कार बलात्कार होता है और उसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।” उन्होंने कहा कि हम हमेशा बेटियों से पूछते हैं कि वो कहां जा रही हैं, क्या कभी हमने अपने बेटों से भी कुछ पूछा? जो व्यक्ति ये अपराध कर रहा है, वह भी किसी का बेटा है। दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर उठते सवालों के बीच सफाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं इस सरकार और उस सरकार में बलात्कार की घटनाओं की संख्या की गिनती में कभी शामिल नहीं हुआ। बलात्कार बलात्कार है, चाहे वह अब हुआ या पहले हुआ हो। यह बेहद दुखद है।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये बातें 18 अप्रैल को लंदन में कही, जबकि चार साल पहले जब देश में लोकसभा चुनाव का मौसम था, तब नरेंद्र मोदी बलात्कार की घटनाओं पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर हमला बोल कर उनसे जवाब मंगते थे। कहते थे कि दिल्ली में हर दिन बलात्कार हो रहा है और मां-बेटे की सरकार कुछ नहीं कर रही। बलात्कार की घटनाओं पर देश को जवाब चाहिए।

अप्रैल 2014 में मोदी के ऐसे ही एक चुनावी भाषण का वीडियो मौजूद है, जिसमें नरेंद्र मोदी कुछ यूं कहते सुनाई देते हैं, “भाइयों-बहनों, कांग्रेस के उपाध्यक्ष युवराज राहुल जी देश भर में भ्रमण करते हैं। छत्तीसगढ़ में आए थे। महिलाओं के सम्मान की बात कर रहे थे, सुरक्षा की बात बोल रहे थे। सुबह टीवी चालू करो, पहली खबर आती है आज दिल्ली में बलात्कार हुआ। दूसरे दिन टीवी खोलो तो खबर आती है आज सामूहिक बलात्कार हुआ। तीसरे दिन खबर आती है कि कोई बेटी की लाश मिली है। ये खबर आती है कि नहीं आती है…. भाइयों। श्रीमान राहुल जी दिल्ली में रहते हो, आपकी सरकार है, मां-बेटे की सरकार दिल्ली में रहती है। जरा देश को इसका जवाब तो दो।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट