ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी की राज्यसभा में विपक्ष को दो टूक- GST पर इतना ही ज्ञान था आपके पास तो इतना अकटाए क्यों रखा?

पीएम ने जीएसटी को लेकर कहा कि हमारा मत है कि जहां समयानुकूल परिवर्तन आवश्यक हैं, परिवर्तन करने चाहिए।

पीएम मोदी। फोटो: BJP/Twitter

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (6 फरवरी) को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर विपक्ष के विरोध की कड़ी आलोचना की। पीएम ने कहा कि अगर विपक्ष को जीएसटी पर इतना ही ज्ञान था उन्होंने इस नई कर व्यवस्था को इतने साल तक अकटाए क्यों रखा। उन्होंने कहा ‘जीएसटी भारत के फेडरल स्ट्रक्चर का एक बहुत बड़ा उपलब्धि है। अब राज्यों की भावनाओं का उसमें प्रकटीकरण होता है। हमारा मत है कि जहां समयानुकूल परिवर्तन आवश्यक हैं, परिवर्तन करने चाहिए। अगर उन्हें (विपक्ष) इतना ही ज्ञान था उन्होंने जीएसटी को इतने साल तक अकटाए क्यों रखा।’

उन्होंने आगे कहा ‘अगर हम बदलाव की बात करते हैं, तो कभी कहा जाता है कि बार बार बदलाव क्यों? हमारे महापुरुषों ने इतना महान संविधान दिया, उसमें भी उन्होंने सुधार की व्यवस्था रखी है। हर व्यवस्था में सुधार का हमेशा स्वागत होना चाहिए।’ पीएम ने इस दौरान राज्यसभा में विपक्ष दलों के रवैये की भी कड़ी आलोचना की। पीएम ने कहा कि वह विपक्ष के रवैये से निराश हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष अभी भी ‘पुराने अंदाज’ अपना रहे हैं और पुरानी बातें कह रहे हैं।

पीएम ने सदन को सदन को संबोधित करते हुए कहा ‘नए दशक में नए क्लेवर की जो मेरी अपेक्षाएं थीं, उसमें से मुझे निराशा मिली है। ऐसा लग रहा है कि आप जहां ठहर गए हैं वहां से आगे बढ़ने का नाम नहीं लेते और वहीं रुके हुए हैं। कभी-कभी तो ऐसा लगता है जैसे और पीछे जा रहे हैं। अच्छा होता अगर हताशा-निराशा का वातावरण बनाए बिना नए उमंग नए विचार, नई ऊर्जा पर बात होती इससे देश को एक नई दिशा मिलती। लेकिन ठहराव को ही आपने अपनी खूबी बना ली है।’

उन्होंन राज्यसभा सदस्य वाइको के कश्मीर पर दिए बयान की भी आलोचना की। पीएम ने कहा ‘वाइको जी ने कहा कि 5 अगस्त 2019 जम्मू-कश्मीर के लिए काला दिन है, मैं कहता हूं कि 5 अगस्त जम्मू-कश्मीर में आतंक और अलगाववाद को बढ़ावा देने वालों के लिए काला दिन था।

Next Stories
1 शीना बोरा मर्डर केस: बॉम्बे HC से जमानत मिलने पर भी जेल में ही रहेंगे पीटर मुखर्जी, CBI को मिला 6 हफ्ते का वक्त
2 ईरान ने 11 महीने बाद 6 भारतीयों को रिहा किया, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा शुक्रिया
3 20 साल से सुनता आ रहा हूं गंदी-गंदी गालियां, अब खुद को बना चुका हूं ‘गाली प्रूफ’: नरेंद्र मोदी
ये पढ़ा क्या?
X