ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी 2.0 के 75 दिन पूरेः PM बोले- 370 हटने से पाकिस्तान भौंचक्का, चौंधियाई रह गई आंखें

PM Narendra Modi Interview to IANS in Hindi: इंटरव्यू में पीएम से यह पूछा गया- मोदी 2.0 को क्या अलग बनाता है? इस पर उन्होंने कहा- हमने कुछ ही दिनों में कई अभूतपूर्व फैसले लिए, जिससे यह साफ है कि हमारे पास स्पष्ट नीति और सही दिशा है।

Prime Minister Narendra Modi,Modi interview,PM Modi live interview,Modi interview to IANS,Pm Modi interview to IANS,Modi govt completes 75 daysप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

PM Narendra Modi Interview to IANS in Hindi: अपने नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के दूसरे कार्यकाल के मंगलवार (13 अगस्त, 2019) को 75 दिन पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पाकिस्तान, जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटने के बाद भौंचक्का रह गया था। पड़ोसी मुल्क की आंखें भारत के इस फैसले से चौंधियाई रह गई थीं। ये बातें उन्होंने समाचार एजेंसी आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कही हैं। खास बात है कि पीएम मोदी की यह टिप्पणी पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस (14 अगस्त) के ऐन पहले आई, जबकि अगले दिन (15 अगस्त, 2019) भारत में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाना है।

इंटरव्यू में पीएम से यह पूछा गया- मोदी 2.0 को क्या अलग बनाता है? इस पर उन्होंने कहा- हमने कुछ ही दिनों में कई अभूतपूर्व फैसले लिए, जिससे यह साफ है कि हमारे पास स्पष्ट नीति और सही दिशा है। हमने दूसरे कार्यकाल में चंद्रयान-II  से लेकर तीन तलाक कानून सरीखे बड़े काम किए। कश्मीर से लेकर किसानों के फैसले तक पर हमने साबित किया है कि यह ढृढ़ फैसले वाली सरकार है।

मोदी ने आगे बताया कि 17वीं लोकसभा का पहला सत्र रिकॉर्ड बनाने वाला रहा है। 1952 के बाद से सबसे अधिक उत्पादक सत्र था। बकौल पीएम, “यह कोई मामूली उपलब्धि नहीं है। कई अहम पहल की गईं। जैसे- किसानों और व्यापारियों के लिए पेंशन योजनाएं, चिकित्सा क्षेत्र में सुधार जैसे कार्य किए गए।” कश्मीर मसले पर वह बोले- मैं घाटीवासियों को बताना चाहता हूं कि कश्मीर में आम चुनाव होंगे और उस दौरान युवा और नए चेहरे राजनीति में आएंगे।

मोदी के मुताबिक, “यह जो लोग कह रहे हैं कि कश्मीर के लोगों को दबाया जा रहा है, उनका हक मारा जा रहा है…दरअसल ये लोग खुद ही आगे बढ़ना चाहते हैं और किसी और को वहां की राजनीति में आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं। ये वहीं लोग हैं, जिनका 1987 में चुनाव शक के दायरे में रहा। अनुच्छेद 370 से स्थानीय राजनीति करने वाले लोगों को पारदर्शिता और जवाबदेही से बचाता आया था, जबकि इसके हटाने से लोकतंत्र और मजबूत होगा।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तमिलनाडु के CM पलानीस्वामी ने कहा- पूर्व FM पी.चिदंबरम हैं धरती पर बोझ
2 हापुड़: बीवी ने दवाई के लिए मांगे 30 रुपये तो शौहर ने दे दिया तीन तलाक
3 UP-बिहार व गुजरात नहीं, नरेंद्र मोदी सरकार में असम-मेघालय कैडर के IAS अधिकारियों का है बोलबाला