ताज़ा खबर
 

PM नरेंद्र मोदी ने ली बच्चों संग माता-पिता की क्लास, कहा: ‘मासूमों पर अपनी इच्छाएं न थोपे’

हर किसी के जीवन मको सही रास्ते पर ले जाने वाले एक टीचर्स ही होता है, जो अपने स्टूडेंट को अच्छे बुरे के बारे में बताता है और सही राह दिखाकर उनका मार्गदर्शन करता है।
Author नई दिल्ली | September 4, 2015 14:37 pm
हर किसी के जीवन मको सही रास्ते पर ले जाने वाले एक टीचर्स ही होता है, जो अपने स्टूडेंट को अच्छे बुरे के बारे में बताता है और सही राह दिखाकर उनका मार्गदर्शन करता है। (फोटो: विशाल श्रीवास्तव)

हर किसी के जीवन मको सही रास्ते पर ले जाने वाले एक टीचर्स ही होता है, जो अपने स्टूडेंट को अच्छे बुरे के बारे में बताता है और सही राह दिखाकर उनका मार्गदर्शन करता है। कल टीचर्स डे है लेकिन तैयारियां आज से ही शुरू हो गई हैं। टीचर्स डे (Teacher’s Day) के मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पहली बार दिल्ली के एक स्कूल में बच्चों को भारत का राजनीतिक इतिहास पढ़ाने के लिए जाएंगे।

आज राष्ट्रपति भवन के कैंपस में बने एक स्कूल में इस ख़ास क्लास का आयोजन किया गया है, जहां पर पीएम मोदी की बच्चों के समक्ष टीचर्स के महत्व के बारे में बता रहे हैं।

टीचर्स डे से एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दिल्ली के मानेकशॉ ऑडिटोरियम में स्कूली बच्चों को संबोधित कर रहे हैं पीएम मोदी 9 राज्यों के छात्रों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात कर रहे हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने टीचर्स को मां से बढ़कर बड़ा महत्व बताया। उन्होंने कहा ”मां बच्चे को जन्म देती है लेकिन गुरू उसे जीवन देता है। मार्गदर्शन करता है।

बच्चों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा शिक्षकों को छात्रों पर किताब लिखनी चाहिए। शिक्षक की पहचान है स्टूडेंट्स मां जन्म देती है, गुरु जीवन देता है। जीवन को सुधारने में मां और शिक्षा का योगदान होता है। गुरू की बात जीवनभर याद रहती है।

उन्होंने कहा कि एपीजे अब्दुल कलाम हमारे लिए प्रेरणास्रोत हैं। डॉ. अब्दुल कलाम को टीचर के रूप में याद रखा जाए, वे बच्चों को बुहत प्यार करते थे। शिक्षक कभी रिटायर नहीं होता। शिक्षक का दायित्व बहुत बड़ा होता है। डॉ कलाम कभी विद्या के मार्ग से अलग नहीं हुए, हमेशा नई प्रतिभा को खोजते रहे। डॉ. अब्दुल कलाम अंतिम समय तक बच्चों के बीच रहे, पढ़ाते-पढ़ाते शरीर छोड़ा।

राष्ट्रपति दोपहर करीब 12 बजे बच्चों की क्लास लेंगे, जोकि एक घंटे तक चलेगी। इसके बाद दोपहर 1 बजकर 10 मिनट पर वो टीचरों को संबोधित करेंगे। राष्ट्रपति के संबोधन के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया छात्रों और टीचरों को संबोधित करेंगे। बताते चलें कि बीती शाम को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने इस क्लास रूम का दौरा किया और तैयारियों का जायज़ा लिया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि शिक्षक दिवस के मौके पर देश के राष्ट्रपति पहली बार छात्रों की क्लास लेंगे और ये पूरे देश के लिए ऐतिहासिक मौका है। टीचर्स डे (5 सितंबर) से एक दिन पहले शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश भर के स्टूडेंट्स से बात करेंगे। दिल्ली के मानेकशॉ ऑडिटोरियम में वह देश भर के 9 जगहों से आए करीब 800 स्टूडेंट्स को संबोधित कर रहे हैं। इनकी स्पीच का देश भर के स्कूलों में लाइव टेलिकास्ट होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.