ताज़ा खबर
 

यूपी के नतीजों पर मनमोहन सरकार में अहम पद पर रहे नंदन नीलेकणि ने की नरेन्द्र मोदी की तारीफ

इससे पहले नंदन नीलेकणि ने पीएम के नोटबंदी के फैसले की भी तारीफ की थी और कहा था कि देश के पूरे आर्थिक ढांचे को एक झटके की ज़रुरत थी और सरकार के इस फैसले से डिजिटलाइजेशन को बूस्ट मिलेगा।

नंदन नीलेकणि को मनमोहन सरकार में ‘आधार’ योजना का जिम्‍मा सौंपा गया था।

देश के लिए डिजिटल दुनिया के रास्ते खोलने वाले और आधार प्रोजेक्ट के कर्ताधर्ता रहे नंदन नीलेकणि ने यूपी चुनाव के नतीजों की तारीफ की है, उन्होंने कहा है कि, ‘ उत्तर प्रदेश का जनादेश दिखाता है कि देश के दूसरे इलाक़ों की तरह यूपी भी विकास के लिए मतदान कर रहा है’। उन्होंने कहा कि, ‘ यूपी के नतीजों का सारांश ये है कि लोग अब चीजों को बेहतर रुप में देखना चाहते हैं।’ देश के मशहूर टेक्नोक्रेट नंदन नीलेकणि ने अंग्रेजी बिजनेस न्यूज चैनल ईटी नाउ के साथ बातचीत में कहा कि, ‘ अब लोगों को बेहतर ज़िंदगी और बुनियादी जरुरतें पूरा करने वाली सरकार चाहिए, जहां कहीं भी उन्हें ये संभावनाएं नज़र आती है वे वोट देने से नहीं हिचकते।’

नंदन नीलेकणि के इस बयान को प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी की आर्थिक नीतियों को सराहना के तौर पर देखा जा रहा है। इससे पहले नंदन नीलेकणि ने पीएम के नोटबंदी के फैसले की भी तारीफ की थी और कहा था कि देश के पूरे आर्थिक ढांचे को एक झटके की ज़रुरत थी और सरकार के इस फैसले से डिजिटलाइजेशन को बूस्ट मिलेगा। बुधवार को डिजिटलाइजेशन के बारे में उन्होंने कहा कि, ‘ डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश का फायदा अब मिलना शुरू हो गया है, आज की दुनिया में डिजिटलाइजेशन की संभावनाओं को जानकर मैं काफी उत्साहित हूं।’ नंदन नीलेकणि ने पहले भी कहा है कि डिजिटलाइजेशन बाद भारत में आर्थिक आंकड़ों की कमी दूर होगी इससे सरकार को लोकप्रिय नीतियां बनाने में सहायता मिलेगी।

भारतीय जनता पार्टी ने यूपी के विधानसभा चुनाव में अभूतपूर्व जीत हासिल की है। और अपने दम पर 403 सीटों में से 312 सीटें हासिल की है। बीजेपी के सहयोगियों की सीटें मिला देने पर ये आंकड़ा 325 हो जाता है। बीजेपी ने इस जीत को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काम और विकास की नीतियों पर जनता का मुहर बताया है।

16 साल की गायिका नाहिद आफरीन के खिलाफ 42 मौलवियों ने जारी किया फतवा; गाया था IS विरोधी गाना

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App