विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का ‘ऐलान-ए-जंग’, कार्यकारिणी की बैठक में आडवाणी और जोशी भी हुए शामिल

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के बाद बैठक का समापन होगा। इस बार हो रहे कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा ने नए प्रयोग किए हैं। बैठक में शामिल होने वाले सभी लोगों का डिजिटल रजिस्ट्रेशन और डिजिटल हस्ताक्षर करवाया गया है।

PM Modi, Meeting of PM, UP Government, Government will pay the fare of buses, Sultanpur DM, Letter to transport
रविवार को नई दिल्ली में हो रही भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए। (फोटो: पीटीआई)

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले रविवार को नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गई। इसमें प्रधानमंत्री मोदी के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, नितिन गडकरी समेत कई भाजपा नेता शामिल हुए। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए।

कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से इस बैठक में सिर्फ 124 लोगों को आमंत्रित किया गया। सुबह करीब 10 बजे प्रधानमंत्री मोदी इस बैठक में शामिल होने पहुंचे। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया। जेपी नड्डा ने 100 करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को माला पहनकर सम्मानित किया। बैठक में केंद्रीय मंत्रियों के अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्री और कई वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए। 

बैठक में पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर भी चर्चा होगी। इसके अलावा कई और महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा होगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के बाद बैठक का समापन होगा। इस बार हो रहे कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी ने नए प्रयोग किए हैं। बैठक में शामिल होने वाले सभी लोगों का डिजिटल रजिस्ट्रेशन और डिजिटल हस्ताक्षर करवाया गया है। कोरोना महामारी की वजह से लगभग 1.5 साल बाद भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है। 

इस बैठक में अलग अलग राज्यों की भाजपा इकाई के नेता वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए। इसके लिए पार्टी की तरफ से वर्चुअल लिंक उपलब्ध कराया गया। भाजपा के लिए यह बैठक काफी अहम है कि क्योंकि किसान आंदोलन और कोरोना महामारी के प्रबंधन को लेकर भाजपा सरकार को काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। हाल ही में हुए विधानसभा और लोकसभा उपचुनाव में भी पार्टी का प्रदर्शन औसत ही रहा है।

गौरतलब है कि अगले साल के शुरुआत में ही पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने को हैं। इनमें उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर शामिल हैं। इनमें से पंजाब को छोड़कर सभी राज्यों में भाजपा की सरकार है। वहीं साल के अंत में दो और राज्यों में चुनाव होंगे। इनमें पंजाब और हिमाचल शामिल हैं। दोनों ही राज्यों में भाजपा की सरकार है। 

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
पश्चिम बंगाल में सियासी बदलाव के संकेतRajasthan BJP Government
अपडेट