पीएम मोदी का विपक्ष पर निशाना, बोले- आलोचना पसंद है लेकिन अब आरोप लगाने वाले ज्यादा, सिब्बल ने पूछा, सत्य कहां है?

एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आलोचनाओं के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है, शोध करना पड़ता है। जो आज के समय में संभव नहीं है। इसलिए मुझे कभी कभी आलोचकों की बहुत याद आती है।

एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझे आलोचना करने वाले लोग पसंद हैं लेकिन आज आलोचकों की संख्या कम है। तो वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि आज गुजरात के नेता जो दिल्ली पहुंच गए हैं, वो महात्मा गांधी के बारे में बहुत कम जानते हैं। (पीटीआई/ एक्सप्रेस फोटो)

एक मैगजीन को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझे आलोचना करने वाले लोग पसंद हैं लेकिन आज आलोचकों की संख्या कम है। ज्यादातर लोग केवल आरोप लगाते हैं। वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार करते हुए उनसे सवाल पूछा कि आज सत्य कहां है।

ओपन मैगजीन को दिए इंटरव्यू में एक सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं आलोचकों का बहुत सम्मान करता हूं। लेकिन दुर्भाग्य से आज आलोचकों की संख्या बहुत कम है। ज्यादातर लोग केवल आरोप लगाते हैं। धारणाओं के आधार पर आरोप लगाने वाले वालों की संख्या बहुत ज्यादा है। इसका कारण यह है कि आलोचनाओं के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है, शोध करना पड़ता है। जो आज के समय में संभव नहीं है। इसलिए मुझे कभी कभी आलोचकों की बहुत याद आती है।

इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कोरोना टीकाकरण का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कल्पना कीजिए कि अगर हमारे देश में वैक्सीन नहीं आया होता तो क्या स्थिति होती? हम जानते हैं कि आज भी दुनिया की एक बड़ी आबादी के पास कोरोना टीका नहीं है। आज भारत के आत्मनिर्भर होने की वजह से हमें टीकाकरण में सफलता मिली है। साथ ही उन्होंने कहा कि अब तक देश की 69 प्रतिशत वयस्क आबादी को COVID-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक मिली है और 25 प्रतिशत लोगों ने दोनों खुराक ली है। हमारा उद्देश्य दिसंबर के अंत तक सभी लोगों को टीका लगाना है।

इसके अलावा उन्होंने बिना किसी का नाम लिए हुए देश की आलोचना करने वालों पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब हम दुनिया में भारत की स्थिति की तुलना करते हैं तो हम यह पाते हैं कि कई विकसित देशों की तुलना हमने बेहतर किया है। हालांकि हमारे बीच कई ऐसे तत्व भी हैं जिनका एकमात्र उद्देश्य देश का नाम खराब करना है। कोरोना महामारी एक वैश्विक संकट था जिससे सभी देश प्रभावित थे। ऐसी परिस्थिति में और नकारात्मक प्रचारों के बावजूद हमने कई विकसित देशों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया। 

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सरकार द्वारा किए जा रहे कामों का जिक्र करते हुए कहा कि 2014 में देशभर में सिर्फ 6 एम्स थे लेकिन आज ऐसे 22 संस्थाओं का निर्माण किया जा रहा है। 2014 में 380 मेडिकल कॉलेज थे लेकिन आज करीब 560 मेडिकल कॉलेज है। सरकार स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने के लिए एक बड़ी योजना शुरू करने पर भी काम कर रही है।

वहीं महात्मा गांधी के जन्मदिवस पर गुजरात पहुंचे कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने गांधी का नाम लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि आज महात्मा गांधी के जन्मदिवस पर यहां पहुंचा हूं और देश को यह अवगत कराना चाहता हूं कि आज देश में हो क्या रहा है। एक नई सोच की जरूरत और एक नए आंदोलन की जरूरत है। आगे कपिल सिब्बल ने कहा कि आज गुजरात के नेता जो दिल्ली पहुंच गए हैं, वो महात्मा गांधी के बारे में बहुत कम जानते हैं। गांधी कहते थे कि द ओनली गॉड इज द गॉड ऑफ ट्रुथ। मैं मोदी से पूछना चाहता हूं वो सत्य कहां गया? आंकड़ों में, वाणी में, काम करने में और हर चीज़ में असत्य है। जो 2014 में उन्होंने सपने दिखाए थे वे कहां गए। 

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट