बाइडेन से मिल BRICS में गए मोदी तो ये होगा भारत के लिए विनाशकारी- BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की राय

जानकारी के मुताबिक इस महीने के आखिरी में प्रधानमंत्री मोदी अमेरिकी दौरे पर जा सकते हैं। वहीं अब 13वां ब्रिक्स सम्मेलन भी होने वाला है। इसे देखते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी राय रखी है।

तस्वीर ब्रिक्स देशों के वाणिज्य मंत्रियों के बीच बैठक की है। क्रेडिट- पीयूष गोयल ट्विटर हैंडल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सितंबर के आखिरी सप्ताह में अमेरिका का दौरा कर सकते हैं। जो बाइडन के सत्ता की बागडोर संभालने के बाद यह पीएम मोदी का पहला अमेरिकी दौरा होगा। वह पहली बार जो बाइडन से आमने-सामने मुखातिब होंगे। वहीं इस बार ब्रिक्स सम्मेलन की अध्यक्षता भी भारत करने वाला है। इस मामले में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी राय देते हुए कहा है कि अगर सितंबर में जो बाइडन से मिलने के बाद मोदी BRICS सम्मेलन में जाते हैं तो यह देश हित के लिहाज से भारत के लिए ‘विनाशकारी’ होगा।

स्वामी ने कहा कि वह केवल अपनी राय रख सकते हैं। हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि इसके पीछे क्या वजहें हो सकती हैं। सरकार के शीर्ष सूत्रों के मुताबिक 22 से 27 सितंबर के बीच प्रधानमंत्री अमेरिका जा सकते हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। अफगानिस्तान में तेजी से बदल रहे हालात के बीच प्रधानमंत्री की यह यात्रा अहम मानी जा रही है।

वहीं ब्रिक्स सम्मेलन में शामिल होने वाले देश चीन, रूस, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका हैं। इनमें से ज्यादातर देश अमेरिका के धुर विरोधी माने जाते हैं। स्वामी की यह टिप्पणी भी इसी ओर इशारा कर रही है। उनका कहने का मतलब यही हो सकता है कि अगर वह पहले अमेरिकी राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे तो इस बैठक में भारत को नुकसान उठाना पड़ सकता है। कोरोना काल के बाद अर्थव्यवस्था वैसे भी चरमराई है। ऐसे में स्वामी का कहना है कि बाइडेन से मिलने के बाद ब्रिक्स के देश सहयोग को कम कर सकते हैं।

ऐसी खबरें भी आ रही हैं कि 9 सितंबर से ब्रिक्स सम्मेलन की शुरुआत हो जाएगी और यह सम्मेलन वर्चुअल तरीके से आयोजित किया जाएगा। उधर पीएम के अमेरिका दौरे की बात करें तो यह अहम इसलिए है क्योंकि जो बाइडन से मुलाकात के दौरान बातचीत का अजेंडा अफगानिस्तान और चीन हो सकता है।

वॉशिंगटन डीसी में क्वाड लीडर्स के शिखर सम्मेलन की भी योजना बनाई जा रही है। हो सकता है कि पीएम के दौरे का वही समय हो जब वहां क्वाड की बैठक हो रही हो। इससे पहले सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री अमेरिकी दौरे पर गए थे। उस समय राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप थे और उन्होंने हाउडी मोदी कार्यक्रम का भी आयोजन किया था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट