प्रधानमंत्री मोदी ने किया बड़ा ऐलान, तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएंगे, एमएसपी पर बनेगी कमिटी, जाने क्या बोले पीएम

पीएम मोदी ने कहा हमारी सरकार इसी सेवा भाव से देशवासियों का जीवन आसान बनाने में जुटी है। अपने पांच दशक के सार्वजानिक जीवन में मैंने किसान के जीवन की परेशानियों को नजदीक से देखा है और महसूस किया है।

pm modi, bjp
पीएम नरेंद्र मोदी (Photo Source- ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर शुक्रवार की सुबह 9 बजे देश को संबोधित किया। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेगी। पीएम ने कहा कि हम कृषि में सुधार के लिए ये तीन कानून लाए थे। जिससे छोटे किसानों को और ताकत मिले। सालों से देश के किसान और विशेषज्ञ, अर्थशास्त्री इसकी मांग कर रहे थे।

पीएम ने कहा कि जब ये तीन कानून लाए गए, तो इसको लेकर संसद में चर्चा हुई। देश के किसानों और कई संगठनों ने इस फैसले का स्वागत किया। उन सभी का मैं बहुत-बहुत आभारी हूं। साथियों हमारी सरकार किसानों के कल्याण के लिए देश के कृषि जगत के हित में, गांव, गरीब के हित में पूर्ण समर्थन भाव से, अच्छी नियत से ये कानून लेकर आई थी।

उन्होंने कहा कि इसके बाद भी हम किसानों के हित की बात को कुछ किसानों को समझा नहीं पाए। भले ही किसानों का एक वर्ग इसका विरोध कर रहा था। इसके लिए हमने बातचीत का भी प्रयास किया।

तीन कृषि कानून होंगे वापस: पीएम मोदी ने देशवासियों से कहा, शायद हमारी तपस्या में ही कोई कमी रही होगी, जिसके चलते दिए के प्रकाश जैसा सत्य, कुछ किसान भाईयों को हम समझा नहीं पाए। गुरु नानक जी प्रकाश पर्व पर आज मैं आपको, पूरे देश को बताने आया हूं कि हमारी सरकार ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “इस महीने के अंत में शुरू होने जा रहे संसद सत्र में, हम इन तीनों कृषि कानूनों को Repeal करने की संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा कर देंगे।”

उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा, “आप अपने अपने घर लौटे, खेत में लौटें, परिवार के बीच लौटें, एक नई शुरुआत करते हैं।” प्रधानमंत्री मोदी ने एमएसपी पर कमेटी बनाने की बात कही।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में कहा, ‘एमएसपी को और अधिक प्रभावी और पारदर्शी बनाने के लिए, ऐसे सभी विषयों पर, भविष्य को ध्यान में रखते हुए, हमने एक कमेटी के गठन का फैसला किया है। इस कमेटी में केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के प्रतिनिधि होंगे, किसान होंगे, कृषि वैज्ञानिक होंगे, कृषि अर्थशास्त्री होंगे।’

पीएम ने कहा, हमनें फसल बीमा योजना को अधिक प्रभावी बनाया, उसके दायरे में अधिक किसानों को लाए। पुराने नियमों को बदला कि किसानों को ज्यादा मुआवजा मिल सके। इस कारण बीते चार सालों में एक लाख करोड़ से ज्यादा का मुआवजा किसान भाईयों के मिला है। पीएम मोदी ने कहा कि किसानों को हमने एमएसपी बढ़ाई साथ ही साथ रिकॉर्ड सरकारी केंद्र भी बनाए।

वहीं इससे पहले पीएम मोदी अपने संबोधन की शुरुआत में कहा, आज देव दीपावली का पावन पर्व है और गुरू नानक देव जी का भी पवित्र प्रकाश पर्व है। मैं दुनिया के सभी लोगों को और सभी देशवासियों को इस पावन पर्व पर हार्दिक बधाई देता हूं। पीएम ने कहा, ये भी बहुत सुखद है, कि करीब डेढ़ साल बाद करतारपुर साबिह कॉरिडोर फिर से खुल गया है।

किसानों का जिक्र करते हुए पीएम मोदी कहा, मैंने पिछले कई दशकों तक किसानों की परेशानियों को बहुत करीब से देखा, महसूस किया। जब से मुझे मौका मिला, हमारी सरकार उनकी बेहतरी के लिए काम करने में जुट गई। पीएम ने कहा, जब मैं 2014 में प्रधानमंत्री बना, तो हमारी सरकार ने किसानों के कल्याण और विकास को प्राथमिकता दी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट