scorecardresearch

PM मोदीः स्वाभिमानी नहीं तिलांजलि सभा थी JDU-RJD की रैली, कहा 25 साल का हिसाब दे बिहार सरकार

तीन दिन पहले ही जहां एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार की स्वाभिमान रैली में पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था।

PM मोदीः स्वाभिमानी नहीं तिलांजलि सभा थी JDU-RJD की रैली, कहा 25 साल का हिसाब दे बिहार सरकार
PM मोदीः स्वाभिमानी नहीं तिलांजलि सभा थी JDU-RJD की रैली, कहा 25 साल की हिसाब दे बिहार सरकार(photo-ie)

तीन दिन पहले ही जहां एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार की स्वाभिमान रैली में पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था। उनके साथ ही लालू यादव और नीतेश यादव ने भी पीएम पर कई बार तीखे जुवानी हमले किए थे। लेकिन अब वक्त आ गया जब पीएम ने भी ने बी अपने विपक्षी नेताओं को पलटवार किया है। पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को बिहार के भागलपुर में एक परिवर्तन रैली को संबोधित कर रहे हैं।

रैली के दौरान जिस तरह से विपक्षी दलों ने पीएण मोदी को निशाने पर लिया ठीक उसी तरह पीएम ने भी उन्हे टारगेट किया। पीएम मोदी ने स्पीच शुरू करते ही जेडीयू और आरजेडी को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, दो दिन पहले पटना के गांधी मैदान में एक ‘तिलांजलि सभा’ हुई।

इस रैली में उनके चेलों ने जेपी, लोहिया जैसे नेताओं के आदर्शों की तिलांजलि दे दी। पीएम का इशारा जेडीयू-आरजेडी की स्वाभिमान रैली की ओर था। बता दें कि स्वाभिमान रैली में नीतीश कुमार, लालू प्रसाद के अलावा कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी भी पहुंची थीं।
रैली में कई सपोर्टर पंडाल के बांस पर चढ़े थे। जिससे नाराज मोदी ने सबसे पहले उन्हें नीचे उतरावा। उन्होंने स्टेज पर स्पीच शुरू करने से पहले ही कहा जब तक सभी लोग नीचे नहीं उतर जाएंगे, तब तक वह बोला नहीं शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव आते जाते रहेंगे लेकिन जीवन अहम है। बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी लगातार ‘परिवर्तन रैली’ कर रही है। इससे पहले पीएम मुजफ्फरपुर और गया में रैली कर चुके हैं।

हवाईअड्डा मैदान पर रैली में पहुंचे जहां एक ओर पीएम मोदी बेहद जोशीले दिखे तो वहीं दूसरी ओर भीड़ भी बेहद उस्ताहित दिखी। रैली के दौरान उन्होंने सभी पॉलीटिकल पंडितों से कहा कि देख लो बिहार के लोग अब विकास के लिए बदलाव के लिए वोट किसे करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि 25 साल बाद बिहार की जनता विकास के लिए वोट करने जा रही है।

अगर चुनाव बिहार विधानसभा का है तो 25 साल से जिन लोगों ने बिहार पर राज किया है उन लोगों को अपने कामकाज का हिसाब किताब देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि 2019 का जब लोकसभा चुनाव होगा तो मैं फिर से आप लोगों के बीच आऊंगा और मैं अपने पांच साल के काम का हिसाब दूंगा। लोकतंत्र में जो सरकार में बैठे हैं उनकी जिम्मेवारी है कि वो अपने 25 साल के काम का हिसाब देना चाहिए। लेकिन सरकार अपने काम का हिसाब नहीं दे रहे। बल्कि वे लोग उलटा मोदी से हिसाब मांग रहे हैं।

गौरतलब है कि बिहार के सीएम नीतेश ने कहा था कि 2015 तक बिजली देने का वादा किया था पर क्या बिजली आई, नहीं तो उन्होंने वादाखिलाफी की। इसलिए बिहार के नौजवान 25 साल का जवाब मांगे। उन्होंने कहा कि बिहार अगर आगे निकल गया तो देश भी आगे निकल जाएगा।

पढें नई दिल्ली (Newdelhi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 01-09-2015 at 02:19:31 pm
अपडेट