ताज़ा खबर
 

दिल्ली हाई कोर्ट से गुहार-कुलभूषण जाधव की रिहाई के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय जाए भारत

कुलभूषण जाधव को मार्च 2016 में जासूसी के आरोप में पाकिस्तान ने गिरफ्तार किया था। उन्हें मौत की सजा सुनाई गई है

Kulbhushan Jadhav, Kulbhushan Jadhav Case, Kulbhushan Jadhav Case judgement, Kulbhushan Jadhav case verdict, ICJ, Kulbhushan Jadhav case verdict in hindi, Kulbhushan Jadhav case news in hindi, Kulbhushan Jadhav News, kulbhushan jadhav death, कुलभूषण जाधव, कुलभूषण जाधव केस इन हिंदी, कुलभूषण जाधव केस, कुलभूषण जाधव मामला, latest news updatesभारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव (फाइल फोटो)

दिल्ली हाई कोर्ट में एक अर्जी दाखिल कर गुहार लगाई गई है कि वह विदेश मंत्रालय को निर्देश दे ताकि मंत्रालय पूर्व भारतीय नौसेना अफसर और पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव की रिहाई के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का रुख करे। याचिका में अनुरोध किया गया है कि अदालत विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय को जाधव तक राजनयिक पहुंच प्राप्त करने के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय से संपर्क करने का निर्देश दे। याचिका में कहा गया कि इस पूर्व नौसैन्य अधिकारी को पाकिस्तान ने न सिर्फ अवैध तौर पर बंदी बनाया हुआ है, बल्कि उन्हें गलत तरीके से मौत की सजा भी सुना दी। याचिकाकर्ता राहुल शर्मा ने यह भी कहा कि पाकिस्तानी सेना जाधव को निष्पक्ष सुनवाई का अवसर उपलब्ध करवाने में विफल रही है।

कुलभूषण जाधव को मार्च 2016 में जासूसी के आरोप में पाकिस्तान ने गिरफ्तार किया था। उन्हें मौत की सजा सुनाई गई है, जिसकी पुष्टि खुद पाकिस्तान सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने की थी। कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना के सेवारत अधिकारी हैं लेकिन पाकिस्तान ने उन पर रॉ का एजेंट होने के आरोप लगाए। रिपोर्टों के मुताबिक कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान का दावा है कि वह हुसैन मुबारक पटेल के नाम से बलूचिस्तान इलाके में ईरान की सीमा से दाखिल हुए थे।

इस मामले में सख्त होते हुए भारत ने पाकिस्तान के साथ सभी तरह की द्विपक्षीय बातचीत बंद कर दी है। दोनों देशों को समुद्री सुरक्षा के लिए 17 अप्रैल को एक मीटिंग करनी थी। लेकिन शुक्रवार (14 अप्रैल) को भारत ने आधिकारिक तौर पर पाकिस्तान को यह संदेश भेज दिया था कि भारत ऐसी किसी बातचीत के लिए फिलहाल तैयार नहीं है। यह भी कहा गया था कि भारत पाकिस्तान के किसी भी डेलिगेशन को यहां नहीं बुलाना चाहता। पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी (PMSA) के लोग रविवार को भारत आने वाले थे।

इसके बाद 16 अप्रैल को पाकिस्तान ने पीओके के पास तीन लोगों को अरेस्ट किया था, जिन्हें उसने रॉ एजेंट बताया था। पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स में कहा जा रहा था कि एक सर्च अॉपरेशन में 3 रॉ एजेंट और एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है, जो अब्बासपुर बम धमाकों का मास्टरमाइंड है।

इसके अलावा पाकिस्तान कुलभूषण जाधव के मामले में नया डोजियर तैयार कर रहा है, जिसे वह ‘सबूत’ के तौर पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के सामने पेश करेगा। एएनआई के मुताबिक पाकिस्तान द्वारा तैयार किया जा रहा नया डोजियर जाधन के प्रारंभिक बयान और अदालत के सामने उसके द्वारा दिए गए बयानों पर आधारित है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक कोर्ट से पहले जाधव द्वारा दिए गए बयान में उसने कराची और ब्लूचिस्तान में कथित तौर पर जासूसी और अन्य गतिविधियों में शामिल होने की बात स्वीकारी है। इसके साथ ही डोजियर में कोर्ट मार्शल जनरल की प्रमाणिक रिपोर्ट भी शामिल होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सोशल मीडिया के बिगड़ैलों को सबक सिखाएंगी बरखा दत्त, राणा अय्यूब और गुरमेहर कौर, कहा- हम चुप बैठने वालों में से नहीं हैं
2 मिलिए कश्‍मीर में बदसलूकी के शिकार हुए सीआरपीएफ जवान से, चार महीने से लगातार कर रहा था चुनाव ड्यूटी
3 अरनब गोस्वामी का दावा- एक मीडिया हाउस ने दी धमकी, नेशन वांट्स टु नो बोला तो करवा दूंगा गिरफ्तार
यह पढ़ा क्या?
X