दानिश सिद्दीकी के कैमरे का कमाल, कोरोना का असली रूप दिखा गया पत्रकार

दानिश सिद्दीकी ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऐसी तस्वीरें खींचीं जिन्हें देखकर लोगों को इस महामारी की भयावहता का अंदाजा लगा।

danish siddiqui
मुंबई के एक आर्ट स्कूल में ऐसे दी गई दानिश को श्रद्धांजलि। क्रेडिट- रॉयटर्स

अफगानिस्तान के कंधार में मारे गए पुलित्जर विजेता फोटोजर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी आज हर शख्स याद कर रहा है। वैसे तो अनेक क्षेत्रों में किया गया उनका काम अद्भुत था लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के दौरान उन्होंने कुछ ऐसी तस्वीरें उतारीं, जिन्होंने पूरे सिस्टम की पोलपट्टी भी खोल दी और मानवीय संवेदना को झकझोर कर रख दिया। जानकारी के मुताबिक उनके शव को तालिबान ने अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस समिति को सौंप दिया है। भारत के अधिकारी उनके शव को भारत लाने का प्रयास कर रहे हैं।

सिद्दीकी को गोली तब लगी जब वह तालिबान और अफगान सैनिकों के बीच चल रही गोलीबारी को कवर कर रहे थे। उनके साहस का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि न तो वह युद्ध के मैदान से डरे और न ही कोरोना जैसी महामारी से। बीते साल जामिया में जब हिंसा हुई थी तब वह बंदूकधारी युवक के बिल्कुल सामने से फोटो खींच रहे थे। आज वह तस्वीर भी चर्चा का विषय है। वह जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र भी रहे हैं।

आइए उनकी कुछ ऐसी तस्वीरों पर नज़र डालते हैं जिनकी वजह से लोगों को कोरोना का असली रूप नज़र आया…

यह तस्वीर अप्रैल 2021 की है जब कोरोना की दूसरी लहर तबाही मचा रही है। यह राजधानी दिल्ली के एक श्मशान की तस्वीर है जहां चिताएं-ही चिताएं नज़र आ रही हैं।

तस्वीर बिहार के भागलपुर के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज की है। अस्पताल के कॉरिडोर में एक महिला स्ट्रेचर पर लेटे अपने पति को थामे खड़ी है। यह तस्वीर 7 जुलाई 2020 को खींची गई थी।

यह तस्वीर भी दिल्ली की है। एक श्मशान में सामूहिक अंतिम संस्कार का इंतजाम किया जा रहा है। यह तस्वीर उस वक्त की है जब कोरोना इतने लोगों की जान ले रहा था कि न तो अस्पताल में जगह थी और न ही श्मशान में।

दिल्ली के रिहाइशी इलाके के बीच एक श्मशान जो चिता की आग से चमक रहा है। दानिश ने यह तस्वीर ड्रोन से खींची थी।

यह तस्वीर 29 अप्रैल 2020 की है। दिल्ली के एक श्मशान में एक हेल्थवर्कर खड़ा है जो कि सीआरपीएफ के एक अधिकारी को दफनाने जा रहा है। अधिकारी की कोरोना की वजह से मौत हो गई थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट