ताज़ा खबर
 

फाइजर ने वापस लिया मंजूरी का आवेदन, ऐसे ही लगता रहा टीका तो 7 साल में पूरा होगा वैक्सिनेशन

आवेदन वापस लिए जान पर फाइजर के प्रवक्ता ने आगे कहा कि हमारी कंपनी डीसीजेए के साथ बातचीत करती रहेगी और भविष्य में दुबारा से वैक्सीन उपलब्ध करवाने को लेकर आवेदन कर सकती है।

प्रतीकात्मक फोटो (फोटो – रॉयटर्स )

अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइजर ने कोरोना वैक्सीन के मंजूरी के लिए दिये गए आवेदन को वापस ले लिया है। फाइजर ने भारत में अपने कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग के लिए सरकार के सामने आवेदन किया था। इस पूरे घटनाक्रम पर फाइजर के प्रवक्ता ने कहा है कि अपने  वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की मांग को ध्यान में रखते हुए फाइजर ने 3 फरवरी को ड्रग नियामक प्राधिकरण की विशेषज्ञ समिति की बैठक में भाग लिया था। बैठक में बातचीत और कई सारी जानकारी प्राप्त करने के बाद कंपनी ने अपने आवेदन को वापस लेने का फैसला किया है। वहीँ कोरोना वैक्सीन लगाये जाने की गति को लेकर एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगर ऐसे ही टीकाकरण चलता रहा तो इसे पूरा होने में करीब 7 साल लग सकते हैं।

आवेदन वापस लिए जान पर फाइजर के प्रवक्ता ने आगे कहा कि हमारी कंपनी डीसीजेए के साथ बातचीत करती रहेगी और भविष्य में दुबारा से वैक्सीन उपलब्ध करवाने को लेकर आवेदन कर सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम भारत सरकार के साथ लगातार बातचीत कर रहें हैं ताकि लोगों को वैक्सीन उपलब्ध करवा सकें।

आपको बता दूँ कि फाइजर पहली कंपनी थी जिसने भारत में अपनी वैक्सीन के आपात इस्तेमाल के लिए आवेदन किया था। हालाँकि फाइजर शुरू से चाहती थी कि भारत में उसके वैक्सीन को अप्रूवल से पहले ख़रीदने का भरोसा दे। दरअसल फाइजर ने कहा था कि दुनिया के कई देशों में उनकी वैक्सीन प्रभावी रूप से काम कर रही है और इसके कोई दुष्प्रभाव भी नहीं हैं। 

Next Stories
1 सुधांशु त्रिवेदी ने पूछे मुस्लिम चिंतक से सवाल; ऐक्टर को सुनाया उनका ही डायलॉग- सब प्लान के मुताबिक
2 किसान आंदोलन के लिए कहां से आता है पैसा? प्रभू चावला के सवाल पर राकेश टिकैत ने बताया, चुनाव लड़ने पर बोले- ज़मानत जब्त हो गई थी
3 कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को गिरफ्तारी के 35 दिन बाद मिली जमानत, सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश पुलिस को जारी किया नोटिस
ये पढ़ा क्या?
X