X

राजस्थान, आंध्र प्रदेश के बाद अब बंगाल ने दी राहत, ममता बनर्जी ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम

ममता सरकार से पहले आंध्र प्रदेश में तेल के दाम में दो रुपए घटाए गए थे, जबकि राजस्थान में पेट्रोल-डीजल पर लगने वैल्यू ऐडेड टैक्स (वैट) में चार फीसदी की कमी की गई थी।

पश्चिम बंगाल सरकार ने तेल के आसमान छूते भाव के बीच लोगों को थोड़ी राहत दी है। मंगलवार (11 सितंबर) को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पेट्रोल और डीजल के दाम घटा दिए। उन्होंने कहा, “हमने पेट्रोल और डीजल के दाम में 1-1 रुपए घटाने का फैसला लिया है।” ममता सरकार से पहले कुछ ऐसा ही कदम आंध्र प्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों ने उठाया था। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू ने सोमवार (10 सितंबर) को पेट्रोल-डीजल के दामों में दो-दो रुपए की कटौती का ऐलान किया था, जबकि परिवर्तित दाम आज सुबह से प्रभाव में आ गए।

वहीं, राजस्थान में वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार ने भी तेल के दाम गिराए। यहां सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर लगने वैल्यू ऐडेड टैक्स (वैट) में चार फीसदी की कमी की थी। हालांकि, तेल के दाम घटाने के मामले में बीजेपी सरकार अभी भी पीछे है।

आपको बता दें कि मंगलवार (11 सितंबर) को मुंबई में पेट्रोल के दाम में 14 पैसे का उछाल आया। पेट्रोल महंगा होकर यहां 88.26 रुपए प्रति लीटर हो गया, जबकि डीजल की कीमत में 15 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई। डीजल का नया दाम 77.47 रुपए प्रति लीटर है। वहीं, चेन्नई में तेल के दामों में 14 से 15 पैसे की वृद्धि दर्ज की गई। पेट्रोल यहां 84.05 रुपए लीटर हो गया, जबकि एक लीटर डीजल 77.13 रुपए में मिला।

लगातार तेल के बढ़ते दामों को लेकर सोमवार (10 सितंबर) को मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने भारत बंद बुलाया था। देश के विभिन्न राज्यों में नारेबाजी, विरोध प्रदर्शन, आगजनी और तोड़-फोड़ की घटनाएं सामने आई थीं, जबकि देश की राजधानी दिल्ली में इस बंद के अंतर्गत 1.8 किमी लंबा मार्च निकाला गया था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई दिग्गज राजनेता इस मार्च में मौजूद थे। कांग्रेस के अलावा अन्य विपक्षी दलों ने भी बंद में शामिल होकर पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार आ रहे उछाल और डॉलर के मुकाबले कमजोर होते रुपए के मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन किया था।