ताज़ा खबर
 

2019 से पहले बनेगा राम मंदिर? बीजेपी ने बताया अमित शाह ने क्या कहा, भड़के ओवैसी

अगले लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर मीडिया में चल रहे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह के बयान का पार्टी ने खंडन किया है। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि अमित शाह ने इस बारे में कोई बयान नहीं दिया है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की फाइल फोटो। (सोर्स- पीटीआई)

अगले लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर मीडिया में चल रहे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह के बयान का पार्टी ने खंडन किया है। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि अमित शाह ने इस बारे में कोई बयान नहीं दिया है। बता दें कि अमित शाह ने शुक्रवार (13 जुलाई) को तेलंगाना में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की थी। इसके बाद पार्टी की राष्ट्रीय समिति के सदस्य पेरला शेखर राव ने मीडिया से कहा था कि शाह ने पार्टी नेताओं से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बारे में बात की है। शाह ने कहा था कि आम चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। शनिवार (14 जुलाई) को बीजेपी नेता एनआर राव ने एएनआई से बात करते हुए इस बारे में सफाई भी दी। उन्होंने कहा, ”कल उन्होंने (अमित शाह) कहा था कि बीजेपी राम मंदिर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और अभी मामला विचाराधीन है। अदालत और अन्य पहलुओं से संबिधित परिस्थितियों को देखते हुए वह व्यक्तिगत रूप से चाहते हैं कि यह बने और उम्मीद करते हैं कि 2019 के चुनाव से पहले इसकी प्रक्रिया शुरू हो जाए।”

अगले आम चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रही खबरों पर ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इतेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ओवैसी ने कहा है कि आम चुनाव तभी स्वतंत्र और निष्पक्ष होंगे जब राम मंदिर निर्माण पर फैसला चुनाव के बाद दिया जाएगा। ओवैसी ने कहा है कि क्या अमित शाह कोर्ट का फैसला तय करने वाले है? कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी कह चुके हैं कि राम मंदिर पर अदालत का फैसला चुनाव के बाद दिया जाना चाहिए। वहीं राम मंदिर निर्माण को लेकर पुरजोर समर्थन करने वाले बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ओवैसी के बयान पर पलटवार किया है।

स्वामी ने मीडिया से कहा, ”मैं ओवैसी के तर्क से हैरान हूं, अमित शाह ने केवल भविष्यवाणी की है, वह भविष्यवाणी मैं लंबे समय से कर रहा हूं कि दिवाली तक निर्माण शुरू हो जाएगा। इसलिए वह कह रहे हैं कि मंदिर अगले आम चुनाव तक बनेगा, बेशक.. मेरा मतलब है कि अगर आप दिवाली तक निर्माण शुरू करते हैं तो चुनाव से पहले इसे बना लेते हैं। लेकिन जिस तरह से हमारे पास सामग्री है उसके आधार पर हमारे पास भविष्यवाणी करने का अधिकार है, मुस्लिम पार्टियों के पास ऐसी कुछ सामग्री नहीं है। जैसा कि हिंदुओं के पास इसका मूल अधिकार है, वह उनके पास नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App