ताज़ा खबर
 

‘कुरकुरे में प्‍लास्टिक है’ ऐसा मेसेज भेजा तो होगी जेल, सारी पोस्‍ट्स होंगी डिलीट

पेप्सिको के प्रवक्ता ने बताया कि कुरकुरे देशभर के परिवारों में पसंद किया जाता है। यह भारत का सबसे पसंदीदा ब्रांड है। इसलिए कुरकुरे ब्रांड की छवि को खराब करने के लिए मार्केट में झूठी खबरें फैलाई गईं।

कुरकुरे में प्लास्टिक बताने वाली ऐसी ही तस्वीरें सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही हैं।

पेप्सिको इंडिया होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड ने दिल्ली हाईकोर्ट (HC) से फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर सैकड़ों ट्वीट्स को हटाने के लिए अंतरिम आदेश प्राप्त कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इन पोस्ट्स दावा किया गया है कि स्नैक ब्रांड कुरकुरे में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया है। मीडियानामा की रिपोर्ट के मुताबिक करीब 3,412 फेसबुक लिंक, 20,244 फेसबुक पोस्ट्स, 242 यूट्यूब वीडियो, 3 इंस्टाग्राम लिंक और 562 ट्वीट्स को चिन्हित किया है, जिन्हें डिलीट करने के आदेश दे दिए गए हैं। इसके अलावा कोई कुरकुरे में प्लास्टिक है, जैसे मेसेज भेजेगा तो उसे जेल हो सकती है। मामले में पेप्सिको के प्रवक्ता ने बताया कि कुरकुरे देशभर के परिवारों में पसंद किया जाता है। यह भारत का सबसे पसंदीदा ब्रांड है। इसलिए कुरकुरे ब्रांड की छवि को खराब करने के लिए मार्केट में झूठी खबरें फैलाई गईं। जिनमें बताया गया कि कुरकुरे में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया गया है। हालांकि सोशल मीडिया में पोस्ट्स डिलीट होने की खबरें पर यूजर्स ने कंपनी का खासा मजाक बनाया है।

देखें ट्वीट्स

बता दें कि पिछले साल सितंबर में इंडियन स्नैक्स, फूड, पेप्सिको इंडिया की मैनेजिंग डायरेक्टर वानी गुप्ता ने बताया कि कंपनी महिलाओं को आश्वस्त करने के लिए काउंटरमैजर्स डेवलप कर रही है। चूंकि कुरकुरे उनके लिए सुरक्षित है। यह अफवाह थी कि कुरकुरे गर्भपात का कारण बनता है। गुप्ता के मुताबिक मामले को कोर्ट में ले जाने के बजाए जनता से बातचीत करना कहीं ज्यादा जरूरी है।

बता दें कि साल 1999 में पहली बार मार्केट में आए कुरकुरे का ब्रांड हिट होने के बाद इसकी अबतक 40 तरह की वैरायटी मार्केट में आ चुकी हैं। विदेशी में भी कुरकरे निर्यात किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App