ताज़ा खबर
 

पेप्सी का बोतलबंद पानी अब पूरे देश में एक रेट पर बिकेगा: पासवान

खाद्य मंत्रालय पैकेटबंद खाद्य एवं पेय पदार्थों को एक एमआरपी पर बेचने पर जोर दे रहा है।

Author April 14, 2017 6:37 PM
Ram-Vilas-paswan-PTIखाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान। (Photo: PTI)

खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवाव ने आज (14 अप्रैल) को कहा कि पेप्सी का बोतलबंद पानी ‘एक्वाफिना’ देश भर में एक ही अधिकतम खुदरा बिक्री मूल्य (एमआरपी) पर उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि क्रिकेट संघ बीसीसीआई इस बात को सुनिश्चित करेगा कि उसके सभी क्रिकेट स्टेडियम में बोतलबंद पानी एक ही एमआरपी पर बेचा जाये। खाद्य मंत्रालय पैकेटबंद खाद्य एवं पेय पदार्थों को एक एमआरपी पर बेचने पर जोर दे रहा है। यही वजह है कि पेप्सी अपने बोतल बंद ‘मिनरल वाटर’ को पूरे देश में एक ही एमआरपी पर बेचने का वादा कर रहा है। पासवान ने कहा कि किसी भी उत्पाद के दो एमआरपी होने पर कानून के तहत कार्रवाई की जा सकती है और उपभोक्ता अदालतें पहले से इस पर कार्रवाई कर रही हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, दो एमआरपी होना कानून के खिलाफ है। हमें एक सफलता मिली है। पेप्सी ने कहा है कि वह ‘एक्वाफिना’ बोतल बंद पानी को देश भर में एक दाम (एमआरपी) पर बेचेगी। बीसीसीआई ने भी निर्देश दिया है कि उसके क्रिकेट स्टेडियमों में सभी बोतलबंद पानी एमआरपी पर ही बेचा जायेगा।

गौरतलब है कि जनवरी में पासवान ने कहा था कि होटलों में खाद्य एवं पेय पदार्थो पर सेवा शुल्क लगाना अनुचित व्यापार व्यवहार है और उपभोक्ताओं को इसका भुगतान नहीं करना चाहिए। मौजूदा कानून के तहत होटलों-रेस्तरांओं के खिलाफ कार्रवाई करने का कोई प्रावधान नहीं है लेकिन उपभोक्ताओं को इस बात की स्वतंत्रता है कि वे सेवा शुल्क का भुगतान नहीं कर सकते हैं और इस बारे में मेनू कार्ड के जरिये अगर उन्हें पहले सूचित किया जाये जो वे नहीं खाने अथवा पीने का फैसला कर सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारतीय नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव की चार्जशीट पाकिस्तान ने की सार्वजनिक, जानिए क्या हैं आरोप
2 ऐसे काम करता है भीम-आधार पे ऐप, जानिए क्या है ट्रांजेक्शन करने की फीस
3 स्वदेशी जागरण मंच ने 2017 को घोषित किया है ‘चीन विरोधी वर्ष’, सह-संयोजक ने कहा- भारत और चीन के बीच दीवार बने तो खुशी होगी
ये पढ़ा क्या?
X