ताज़ा खबर
 

‘यही तो है आपदा में अवसर’, छह दिनों में पेट्रोल 3.31 रुपए और डीजल 3.42 रुपए हुआ महंगा तो मोदी सरकार पर निशाना साध रहे लोग

भारत सरकार ने लॉकडाउन के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के कम दाम होने का फायदा उठाते हुए क्षमता से ज्यादा तेल स्टोर कर लिया था, हालांकि आम नागरिकों को इसका फायदा नहीं मिला है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: June 12, 2020 11:47 AM
petrol, dieselपेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रहा इजाफा।

तेल कंपनियों ने शुक्रवार को एक बार फिर पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा दिए हैं। इसी के साथ लगातार पिछले 6 दिनों से तेल के दाम में इजाफा जारी है। शुक्रवार को पेट्रोल के दाम 57 पैसे और डीजल के दाम 59 पैसे प्रति लीटर के हिसाब से बढ़ाए गए हैं। इसी के साथ दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 74.57 रुपए और डीजल 72.81 रुपए में बिक रहा है। पिछले 6 दिनों में पेट्रोल के दामों में 3.31 रु/लीटर और डीजल के दामों में 3.42 रु/लीटर का इजाफा किया गया है। अब इसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने मोदी सरकार पर हमले शुरू कर दिए हैं।

सुकेश रंजन नाम के एक ट्विटर यूजर ने पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के ऐलान पर तंज कसते हुए लिखा, “पिछले 6 दिनों में पेट्रोल की कीमत में 3.31 रुपये और डीजल में 3.42 रुपये का इजाफा। संकट को अवसर में बदलने के आह्वान को मूर्त रूप देती तेल कंपनियां।” एक अन्य यूजर राधेहरी साहू ने इसके रिप्लाई में लिखा, “मोदी है तो मुमकिन है।”

Coronavirus cases in India LIVE News and Updates

वहीं अंशुमान सैल नाम के एक व्यक्ति ने ट्वीट में कहा, “शानदार खबर!, यही है आपदा में अवसर। इसी के बारे में मिस्टर मोदी पिछले कुछ हफ्तों से बात कर रहे हैं।” ज्योति तायडे ने ट्वीट किया- “लगेगी आग तो आएगा मिडिल क्लास’ भी ज़द में। यहां पर सिर्फ गरीबों का मकान थोड़ी है अंधभक्तों।

बता दें कि कोरोनावायरस के चलते लगाए गए लॉकडाउन में करीब तीन महीने तक तेल के दामों में कोई वृद्धि नहीं हुई। उस दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल के दामों में रिकॉर्ड गिरावट भी दर्ज की गई थी। हालांकि, लॉकडाउन खुलने के बाद भी तेल के काम दामों का फायदा आम लोगों को नहीं मिल रहा। पिछले दो महीनों में भारत ने अपनी क्षमता से ज्यादा तेल अलग-अलग जगहों पर स्टोर भी किया है। लेकिन इसके बावजूद तेल के दामों में अब तक कोई कमी नहीं आई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 13 राज्यों के 46 जिलों में कोरोना की रफ्तार राष्ट्रीय दर से भी दोगुनी, देखें- किस राज्य में कौन से जिले बुरी तरह प्रभावित?
2 सांसदों ने बर्बाद कराया जनता का पैसा, एक ही दिन की कई यात्राओं के लिए कराई बुकिंग, टिकट रद्द भी नहीं कराया
3 दिल्ली, महाराष्ट्र समेत पांच राज्यों में कोरोना से निपटने के लिए नाकाफी हैं ICU बेड, वेंटिलेटर्स; केंद्र ने किया आगाह
IPL 2020
X