People stands in queue in parliament to meet PM Modi - जब संसद में पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए कुछ यूं लग गई लाइन - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जब संसद में पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए कुछ यूं लग गई लाइन

देश के विभिन्न हिस्से से आए लोग संसद में पीएम मोदी को देखने के लिए, उनसे मुलाकात करने के लिए घंटों तक लाइन लगाकर खड़े रहते हैं और उनका इंतजार करते हैं।

पीएम मोदी से मिलने के लिए संसद में लाइन में खड़े लोग (फोटो सोर्स- ट्विटर/@akhileshsharma1)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक झलक पाने के लिए लोग हमेशा आतुर रहते हैं। पीएम मोदी जहां कहीं भी जाते हैं उनके समर्थक उन्हें देखने के लिए पहुंच जाते हैं और भारी भीड़ जमा हो जाती है। चाहे वह मोदी की कोई रैली हो, या कोई कार्यक्रम या कोई जनसभा, हर जगह प्रधानमंत्री के प्रशंसक उन्हें देखने के लिए पहुंच जाते हैं। संसद में भी लोग पीएम मोदी की एक झलक पाने के लिए लंबी-लंबी लाइन लगाकर खड़े रहते हैं। देश के विभिन्न हिस्से से आए लोग संसद में पीएम मोदी को देखने के लिए, उनसे मुलाकात करने के लिए घंटों तक लाइन लगाकर खड़े रहते हैं और उनका इंतजार करते हैं।

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें पीएम मोदी के इंतजार में लोग लंबी कतार लगाए खड़े दिख रहे हैं। इस तस्वीर को ट्विटर पर पत्रकार अखिलेश शर्मा ने शेयर किया है, जिसमें उन्होंने जानकारी दी है कि देश के विभिन्न हिस्सों से आए लोग संसद भवन में कतार लगाकर पीएम मोदी से मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

आपको बता दें कि इस वक्त संसद का मानसून सत्र चल रहा है, जो 10 अगस्त तक चलेगा। मंगलवार को संसद भवन में बीजेपी की संसदीय दल की बैठक थी, जिसमें शामिल होने के लिए पीएम मोदी भी संसद पहुंचे थे। यहां बीजेपी सांसदों ने उनका शानदार तरीके से स्वागत किया। दरअसल, राज्यसभा ने सोमवार को राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग से जुड़े संविधान (123वां संशोधन) विधेयक को सर्वसम्मति से पारित कर दिया था, जिसके बाद बीजेपी की पार्लियामेंट्री पार्टी मीटिंग के दौरान पीएम मोदी को फूलों की माला पहनाकर उनका स्वागत किया गया।

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग (एनसीबीसी) को संवैधानिक दर्जा देने के लिए लोकसभा विधेयक को पहले ही पारित कर चुकी है। इससे पहले ऊपरी सदन ने लोकसभा द्वारा पारित विधेयक में कुछ संशोधन किए थे और इसे संसद के निचले सदन को वापस भेज दिया था। लोकसभा ने राज्यसभा द्वारा किए गए संशोधन विकल्प को मंजूरी दी और विधेयक को पारित कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App