ताज़ा खबर
 

लोगों ने बदलाव के लिए दिया वोट: सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस के महाराष्ट्र और हरियाणा में सत्ता से बाहर होने के बाद उसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि पार्टी दोनों राज्यों में अब एक सकारात्मक और सजग भूमिका निभाएगी। पार्टी नेतृत्व ने कहा कि दोनों राज्यों में लोगों ने बदलाव के लिए वोट दिया है। भाजपा […]

कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र और हरियाणा में लोगों के चुनावी जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करती है : सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस के महाराष्ट्र और हरियाणा में सत्ता से बाहर होने के बाद उसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि पार्टी दोनों राज्यों में अब एक सकारात्मक और सजग भूमिका निभाएगी। पार्टी नेतृत्व ने कहा कि दोनों राज्यों में लोगों ने बदलाव के लिए वोट दिया है। भाजपा को उसकी चुनावी विजय के लिए बधाई देते हुए कांग्रेस नेतृत्व ने कहा कि सरकार बनाने वाली पार्टियां उन वादों को पूरा करेंगी जो उन्होंने किए थे।

सोनिया ने एक बयान में कहा,‘कांगे्रस पार्टी महाराष्ट्र और हरियाणा में लोगों के चुनावी जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करती है और सकारात्मक व सजग भूमिका निभाने का संकल्प करती है।’ उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र और हरियाणा के लोगों ने क्रमश: तीन और दो बार जनादेश देकर हम पर भरोसा किया था। हम उम्मीद करते हैं कि सरकार बनाने वाली पार्टियां उन वादों को पूरा करेंगी जो उन्होंने किए थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने पार्टी के साथ खड़े रहने के लिए समर्थकों और मतदाताओं को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने पार्टी और उसकी विचारधारा के प्रति अथक और दृढ़ प्रतिबद्धता दिखाने के लिए कार्यकर्ताओं को विशेष तौर पर धन्यवाद दिया।

 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बयान में कहा,‘हम लोगों के नतीजों को स्वीकार करते हैं। महाराष्ट्र में हमारी सरकार के 15 साल और हरियाणा में 10 साल के बाद लोगों ने बदलाव के लिए वोट दिया है।’ उन्होंने भाजपा को जीत के लिए बधाई देते हुए यह भी कहा कि कांगे्रस लोगों का विश्वास जीतने के लिए कड़ी मेहनत करेगी। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने बयान में कहा,‘मैं भाजपा को उनकी सफलता के लिए शुभकामना देता हूं। कांग्रेस लोगों का भरोसा जतीने के लिए जमीनी स्तर पर फिर कड़ी मेहनत करेगी।’ इस बीच, कांगे्रस महासचिव और हरियाणा प्रभारी शकील अहमद ने कहा कि पार्टी उम्मीद से नीचे आए इस प्रदर्शन के कारणों की समीक्षा के लिए बैठ कर विचार करेगी।

 

महाराष्ट्र में पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कांग्रेस की पराजय की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए कहा कि भले ही कांगे्रस का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। लेकिन उसने कुछ जमीन हासिल कर ली है जो लोकसभा में गंवाई थी।
कांग्रेस नेतृत्व की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय आई है जब यह पर्याप्त रूप से स्पष्ट हो चुका है कि मोदी लहर के कारण भाजपा महाराष्ट्र और हरियाणा में शीर्ष स्तर पर पहुंच गई है। भाजपा को हरियाणा में जहां स्पष्ट बहुमत मिल गया है वहीं महाराष्ट्र में वह सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में खंडित जनादेश आया है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App