ताज़ा खबर
 

सर्दी का सितम: सर्द हवाएं चलने से उत्तर भारत में ठिठुर रहे लोग, अभी जारी रहेगी कड़ाके की ठंड; कोहरे के कारण और बढ़ेंगी मुश्किलें

राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार बेहद ठंडा दिन रहा जहां अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री नीचे 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह इस मौसम का अब तक का सबसे कम तापमान है। जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम होता है और अधिकतम तापमान सामान्य से 4.4 डिग्री सेल्सियस कम होता है तब उसे ठंडा दन मानते हुए मौसम विभाग उसकी चेतावनी जारी करता है।

Author Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | December 19, 2020 7:03 AM
crisisठंड से लोग बेहाल। फाइल फोटो।

देश के उत्तरी भाग के कई हिस्सों में शुक्रवार को औसत न्यूनतम तापतान के पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे रहने से सर्दी का प्रकोप बढ़ गया और भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि अगले सप्ताह तक यही स्थिति बने रहने का अनुमान है और उसके बाद ही कुछ राहत की उम्मीद की जा सकती है।

मैदानी भागों के ठंड की गिरफ्त में आने के बीच विभाग ने कहा कि अगले सप्ताह उत्तर भारत में रात का तापमान सामान्य से नीचे बना रहेगा। विभाग ने 17 से 24 दिसंबर और 24 से 30 दिसंबर तक के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर-पश्चिम, मध्य र पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री सेल्सियस नीचे रहेगा। विभाग ने कहा कि 17 से 24 दिसंबर के दौरान शुरू में पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़, पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में शीत लहर बढ़ जाएगी और फिर उसके बाद इसके प्रकोम में कमी आएगी।

राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री के नीचे चला गया और पश्चिम हिमालयी क्षेत्र से सर्द हवा दिल्ली को सर्द करती रही। जाफरपुर में पारा 2.7 डिग्री तक, आयानगर और लोधी रोड में क्रमश 3.5 और 3.8 डिग्री तक लुढक गया। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में शीतलहर सोमवार तक जारी रह सकती है।

श्रीनगर शहर और गुलमर्ग पर्यटन केंद्र में न्यूनतम तामपान में आंशिक वृद्धि होने के बावजूद शुक्रवार को कश्मीर घाटी में रात का तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। मौसम विभाग ने बताया कि जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी-श्रीनगर और उत्तर कश्मीर में मशहूर पर्यटन केंद्र गुलमर्ग घाटी में ऐसे स्थान हैं, जहां रात के तापमान में बृहस्पतिवार को थोड़ी वृद्धि दर्ज की गई। विभाग के अनुसार घाटी में अन्य सभी मौसम केंद्रों ने न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की।

श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से छह डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जबकि इससे पिछली रात यह शून्य से 6.4 डिग्री नीचे था और वह इस मौसम की यह सबसे अधिक सर्द रात थी। गुलमर्ग में पारा शून्य से 10.6 डिग्री सेल्सियस नीचे लुढक गया, जबकि उसकी पिछली रात यह शून्य से 11 डिग्री नीचे रहा था। गुलमर्ग केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर का सबसे ठंडा स्थान रहा।

मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के पर्यटन स्थल पहलगाम में पारा शून्य से 9.2 डिग्री नीचे चला गया। विभाग के मुताबिक इस केंद्रशासित प्रदेश में माह के आखिर तक ज्यादा बर्फबारी होने का अनुमान नहीं है, वैसे 21-22 दिसंबर को घाटी में छिटपुट स्थानों पर हल्की से मध्यम बर्फबारी हो सकती है। अमृतसर में पारा के 0.4 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाने के साथ ही पंजाब और हरियाणा शुक्रवार को भी शीतलहर की चपेट में रहे।

विभाग के अनुसार अमृतसर का न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री नीचे रहा। पंजाब के ही लुधियाना और पटियाला में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.2 और 4.4 डिग्री रहा। यह सामान्य से तीन डिग्री कम है। दोनों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री दर्ज किया गया। हरियाणा में नारनौल सबसे ठंडा रहा जहां पारा 1.5 डिग्री तक लुढक गया।

राजस्थान भी शीतलहर का सामना कर रहा है जहां माउंट आबू में पारा शून्य के नीचे 2.5 डिग्री तक चला गया। चुरू मैदानी क्षेत्र में सबसे ठंडा स्थान रहा जहां पारा शून्य से 0.3 डिग्री नीचे आ गया। सीकर, पिलानी, भिलवाड़ा, वनस्थली, चित्तौड़गढ और बीकानेर में पारा क्रमश एक डिग्री, 1.5,, 2.1, 2.7, 3.5, और 4.3 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क गया।

शिमला के मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि हिमाचल प्रदेश का जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलोंग राज्य में सबसे ठंडा स्थान बना रहा जहां पारा शून्य के नीचे 10 डिग्री सेल्सियस तक लुढक गया। उन्होंने बताया कि किन्नौर के कल्पा जिले में न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। उनके अनुसार मनाली में पारा शून्य के नीचे एक डिग्री सेल्सियस तक लुढक गया जबकि डलहौजी व कुफरी में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.4 और 4.4 डिग्री रहा। सिंह के अनुसार शिमला में न्यूनतम तामपान 4.6 दर्ज किया गया।

Next Stories
1 कृषि कानून विवाद: नए साल से पहले किसानों का मुद्दा सुलझने की उम्मीद : तोमर
2 न मंडियां बंद होंगी न खत्म होगी एमएसपी, कृषि कानूनों पर प्रधानमंत्री ने स्पष्ट की स्थिति
3 मानव विकास सूचकांक में भारत का स्थान 131वां, ग्रह के संरक्षण के बिना इंसानी उन्नति को बताई गई बेमानी
आज का राशिफल
X