ताज़ा खबर
 

‘बाबरी विध्वंस के दोषियों को सज़ा मिले, फिर होगी मोदी से वार्ता’

बाबरी मस्जिद गिराए जाने के 12 साल पूरे होने की पूर्व संध्या पर उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले के सबसे पुराने पैरवीकार हाशिम अंसारी की सुरक्षा बढ़ा दी और उन्हें ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर दी। ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने के बाद अंसारी और उनके परिवार की हिफाजत के लिए अब एक […]

Author December 6, 2014 3:23 PM
उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले के सबसे पुराने पैरवीकार हाशिम अंसारी की सुरक्षा बढ़ा दी है (फाइल फ़ोटो)

बाबरी मस्जिद गिराए जाने के 12 साल पूरे होने की पूर्व संध्या पर उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले के सबसे पुराने पैरवीकार हाशिम अंसारी की सुरक्षा बढ़ा दी और उन्हें ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर दी।

‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने के बाद अंसारी और उनके परिवार की हिफाजत के लिए अब एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर, छह कांस्टेबल और पीएसी के जवान तैनात रहेंगे। ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा के तहत 11 जवान तैनात रहते हैं। बहरहाल, पुलिस ने 92 साल के अंसारी की जान को किसी तरह का खतरा होने से इनकार किया है।

फैजाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) के बी सिंह ने कहा, ‘‘अंसारी को कोई खतरा नहीं है पर मामले की गंभीरता को देखते हुए हमने उन्हें और उनके परिवार को पूरी सुरक्षा दी है।’’

अंसारी द्वारा अपने बेटे को मामले का पैरवीकार बनाए जाने के बाद स्थानीय प्रशासन ने उनके बेटे इकबाल अंसारी को भी सुरक्षा के दायरे में रखा है।
शुक्रवार को अंसारी अपने घर के भीतर ही रहे और किसी भी मीडियाकर्मी से मुलाकात नहीं की। जब कुछ संवाददाताओं ने अंसारी के घर का रुख किया तो उनके आवास के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उनकी खराब तबीयत का हवाला देते हुए उन्हें अंदर नहीं जाने दिया।

अंसारी ने तीन दिसंबर को कहा था कि वह मामले में शांतिपूर्ण बातचीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वार्ता करने को तैयार हैं बशर्ते वह यह सुनिश्चित करें कि बाबरी मस्जिद गिराने के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App