ताज़ा खबर
 

पैनलिस्ट ने कहा- मैं राम का वंशज हूं और भगवान के नाम पर मचाई जा रही लूट, तो बोले BJP प्रवक्ता- कितने किलो चावल ने कराया आपका धर्मांतरण?

राम मंदिर से जुड़े जमीन विवाद और लोनी में मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई के मामलों के बाद यूपी में सियासत खासा गरमा गई है। गुरुवार को इन्हीं मसलों पर एक टीवी डिबेट में पीस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव शादाब चौहान और BJP नेता संबित पात्रा के बीच जमकर डिबेट हुई। शादाब ने खुद को राम […]

पीस पार्टी के शादाब चौहान और BJP नेता संबित पात्रा। (फाइल फोटोः Ershadabchouhan/sambitswaraj)

राम मंदिर से जुड़े जमीन विवाद और लोनी में मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई के मामलों के बाद यूपी में सियासत खासा गरमा गई है। गुरुवार को इन्हीं मसलों पर एक टीवी डिबेट में पीस पार्टी के राष्ट्रीय सचिव शादाब चौहान और BJP नेता संबित पात्रा के बीच जमकर डिबेट हुई। शादाब ने खुद को राम का वंशज तक बता दिया, तो भाजपा नेता ने पूछ लिया- आपने कितने कोड़े खाकर या फिर कितने किलो चावल पाकर अपना धर्मांतरण कराया था?

यह वाकया हिंदी चैनल Republic Bharat का है। गुरुवार को “पूछता है भारत” नाम के डिबेट शो में चर्चा हो रही थी। ऐश्वर्य कपूर के साथ मेहमानों में प्रो.संगीत रागी भी थे। उन्होंने कहा, “अलीगढ़ में दलितों पर मुसलमानों ने हमला किया, पर बसपा ने आवाज न उठाई। बंगाल में दलित हिंदुओं पर हमले होते आ रहे हैं, पर मैंने किसी दलित प्रवक्ता या तथाकथित प्रगतिशील ताकत को मैंने इसके खिलाफ नहीं सुना। इसके दो बड़े संदर्भ हैं: 1- साल 2022 के चुनाव के लिए पार्टियों की गोलबंदी है कि आखिर मुसलमानों का वोट कैसे लाया जाए। 2- जो मुस्लिम हैं, उनसे क्या नरेंद्र मोदी सरकार पिछले सात साल में अच्छे ताल्लुक कर पाई या नहीं? बीजेपी का जो चेहरा कांग्रेस मुस्लिमों के समक्ष लीप-पोत रही है, वह साजिशन किया जा रहा है। इसमें कांग्रेस के साथ सपा और आप भी शामिल हैं।”

आगे चौहान ने इस पर कहा, “लोनी की घटना में दो चीजें हैं। जब पीड़ित किसी बात का दावा करता है, तो उसे मानना या नकारना है…यह कोर्ट में तय होगा। आज भी उस परिवार ने कहा कि वह ताबीज का काम नहीं करते। मुज्जफरनगर के दंगों के आरोपियों को मोदी के स्टेज पर सम्मानित किया गया। यूपी में योगी नाकाम है, इसलिए हम ऐकाम-ए-इलाही, निजाम-ए-मुस्तफा का राज का कायम कर के मानवता को न्याय देने के प्रयास में जुटे हैं। हम पूरी प्लानिंग कर चुके हैं।”

इसी बीच, एंकर और बीजेपी प्रवक्ता ने उन्हें टोका और पूछा, “यह क्या था? आप क्या बोल गए। पैनलिस्ट आपकी बात पर मुस्कुरा रहे थे।” शादाब ने बताया, सावरकर को देखा देश ने, अब निजाम ए मुस्तफा का राज कायम करना होगा और हम अपने उद्देश्य के लिए प्रयासरत हैं। संवैधानिक रास्ते अपना रहे हैं। अपना डीएनए चेक करा लीजिए।

पात्रा ने इस पर उन्हें टोका, “आज इन्होंने सच स्वीकार लिया। यह भारत और यूपी में निजामी ए मुस्तफा शासन चाहते हैं। शरिया राज और कानून चाहते हैं और इसी वजह से हिंदुओं को नीचा दिखाना, राम को लेकर भ्रम फैलाना…।” इस पर चौहान ने कहा कि आप राम का नाम तो मत ही लें। एक शब्द मत सें। ओडिशा के पंडित से क्षत्रिय के बेटे को सुनने की जरूरत नहीं है।

बकौल बीजेपी प्रवक्ता, “यह जेब में विक्टिम कार्ड लेकर घूमते हैं कि मुसलमान हैं। जहां आप कुछ कहेंगे, तो तुरंत विक्टिम कार्ड निकालेंगे कि मुस्लिम हैं।” इस पर शादाब ने कहा, मैं श्री राम का वंशज हूं। पात्रा ने इसी पर कटाक्ष किया- आपने कितने कोड़े खाए या फिर कितना किलो चावल पाकर धर्मांतरण कराया? देखें, आगे क्या हुआः

Next Stories
1 UAPA: पांच साल में 7840 गिरफ्तार, केवल 155 को दिला पाए सजा; जानिए किस राज्य में कितने लोग हुए शिकार
2 ‘जय श्री राम’ को JSR कह रहे थे ओवैसी के नेता, एंकर का तंज- कहीं पार्टी आपको निकाल न दे
3 कविता ‘शव वाहिनी गंगा’ की तारीफ करने वाले ‘साहित्यिक नक्सल’- गुजरात साहित्य अकादमी प्रमुख ने लिखा; लामबंद हुईं 169 साहित्यिक हस्तियां
ये पढ़ा क्या?
X