ताज़ा खबर
 

जम्मू कश्मीर में पीडीपी-भाजपा गठबंधन बने रहने के आसार

जम्मू कश्मीर में अनिश्चितता भरे कई दिनों के बाद नई सरकार के गठन के लिए पहले स्पष्ट कदम में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को इस बारे में निर्णय करने के लिए अधिकृत किया गया।

Author श्रीनगर | Published on: January 18, 2016 3:18 AM
या तो महबूबा खुद अपनी विरासत संभालें या किसी और को अपनी जगह बिठाने का काम करें।

जम्मू कश्मीर में अनिश्चितता भरे कई दिनों के बाद नई सरकार के गठन के लिए पहले स्पष्ट कदम में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती को इस बारे में निर्णय करने के लिए अधिकृत किया गया। इस बीच यह भी संकेत हैं कि पार्टी भाजपा के साथ अपना सत्तारूढ़ गठबंधन जारी रख सकती है। सरकार गठन के बारे में तय करने के लिए महबूबा को अधिकृत करने का निर्णय रविवार को इसके विस्तारित कोर ग्रुप की पांच घंटे तक श्रीनगर में चली बैठक में किया गया। तत्कालीन मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का सात जनवरी को दिल्ली के एम्स में अचानक निधन होने के बाद से राज्य में सरकार बनाने को लेकर तमाम तरह की अटकले लगाई जाती रही हैं।

पीडीपी नेता नईम अख्तर ने कहा कि पीडीपी ने भाजपा के साथ सरकार गठन के लिए कोई शर्त नहीं रखी है किन्तु उन्होंने इसके लिए कोई समयसीमा तय नहीं की है। ‘पीडीपी की तरफ से कोई शर्त नहीं।’ उनसे जब यह पूछा कितनी जल्दी सरकार गठित होगी, उन्होंने कहा, ‘कोई समय सीमा नहीं।’

राज्य में सरकार गठन को लेकर गतिरोध दसवें दिन में प्रवेश करने के साथ ही राज्य भाजपा नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने उम्मीद जताई कि गठबंधन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा को महबूबा के अपने पिता की जगह लेने पर कोई आपत्ति नहीं है। राज्य में फिलहाल राज्यपाल शासन लगा हुआ है। उधर अख्तर ने बताया, ‘सरकार गठन के बारे में पार्टी महसूस करती है कि हमारे लिए गठबंधन एजंडा पवित्र दस्तावेज है और सईद (मुफ्ती मोहम्मद) के तहत काफी प्रगति हुई है।’

उन्होंने कहा, ‘कोर ग्रुप ने पार्टी अध्यक्ष महबूबा को अधिकृत किया है कि वह जो चाहे निर्णय कर सकती हैं (सरकार गठन के बारे में)।’ उन्होंने कहा, ‘जोर गठबंधन के एजंडे पर है जो मुफ्ती साहब के दृष्टिकोण का हिस्सा है।’ उन्होंने कहा कि मुफ्ती साहब के दृष्टिकोण का सबसे महत्वपूर्ण बिन्दु था कि भारत व पाकिस्तान के बीच मेलमिलाप हो। राज्य में राजनीतिक फेरबदल होने की अटकलें उस समय तेज हो गई थीं जब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कश्मीर जाकर महबूबा के प्रति संवेदना व्यक्त की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X