ताज़ा खबर
 

जिस हिन्दुस्तान में ज्यादातर लोगों के पास PAN कार्ड नहीं वहां GST! शत्रुघ्न सिन्हा का नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला

पार्टी रुख से अलग बयान देने के लिए मशहूर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा , 'जल्दबाजी में किये गये आर्थिक सुधारों का हश्र हम देख चुके हैं, मैं उम्मीद करता हूं कि इस बार भी ऐसी ही स्थिति पैदा ना हो।'

Author Updated: July 3, 2017 7:03 PM
शत्रुघ्न सिन्हा बिहार के पटना साहिब सीट से लोक सभा सांसद हैं। (photo source – Indian Express)

GST यानी कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स लागू हो चुका है। लेकिन इसे लागू करने के लिए नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना जारी है।  इस बार GST की आलोचना एक बीजेपी सांसद ने ही की है। बिहार के पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने एक बार फिर से अपने बयानों के तीर केन्द्रीय नेतृत्व पर चलाए हैं। बीजेपी आलाकमान जहां जीएसटी को आजादी के बाद सबसे बड़ा आर्थिक सुधार बता रहा है वहीं शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि भारत में अभी भी लोगों के बीच डिजिटल क्रांति नहीं पहुंची है और यहां ज्यादातर लोगों के पास PAN कार्ड नहीं है। ऐसे में जीएसटी लागू करना कहां तक सही है? वेबसाइट रेडिफ डॉट कॉम के मुताबिक शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता है कि ज्यादातर भारतीय जीएसटी समझते हैं। पार्टी रुख से अलग बयान देने के लिए मशहूर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा , ‘जल्दबाजी में किये गये आर्थिक सुधारों का हश्र हम देख चुके हैं, मैं उम्मीद करता हूं कि इस बार भी ऐसी ही स्थिति पैदा ना हो।’ शत्रुघ्न सिन्हा के मुताबिक भारत की आबादी का एक बड़ा हिस्सा डिजिटल बैंकिंग और टैक्सेशन के बारे में नहीं जानता है। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि डिजिटाइजेशन को भूल जाइए, ज्यादातर भारतीयों के पास तो PAN कार्ड भी नहीं है।

फिल्मों में शॉटगन नाम से मशहूर शत्रुघ्न सिन्हा से जब ये पूछा गया कि क्या वो GST पर पीएम मोदी अथवा वित्त मंत्री अरुण जेटली के फैसले पर सवाल उठा रहे हैं तो उन्होंने बड़ी सफाई से कहा कि ऐसा कतई नहीं है। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वे पूर्ण रुप से आश्वस्त हैं कि मोदी साब और जेटली साब जो कर रहे हैं उससे वे दोनों पूरी तरह से वाकिफ हैं। उन्होंने कहा कि मैं इस बारे में आश्वस्त नहीं हूं कि लोग इतने बड़े पैमाने पर बदलाव के लिए तैयार हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है और वे प्रार्थना करते हैं कि लोग इस बदलाव को स्वीकार करने के लिए तैयार हैं।

बता दें कि इससे पहले भी कई मुद्दों पर शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी लाइन से हटकर बयान दे चुके हैं। इसी साल मई में जब लालू यादव पर बेनामी संपत्ति इकट्ठा करने के आरोप लगे तो बीजेपी सांसद ने कहा कि अभी सिर्फ आरोप लगे हैं और इनके समर्थन में सबूत भी देना चाहिए। यहीं नहीं शत्रुघ्न सिन्हा ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के मुद्दे पर भी पार्टी लाइन से हटकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का समर्थन किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एग्‍जाम के तनाव से कैसे निपटें? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युवाओं के लिए लिखेंगे किताब
2 अखिलेश राज में ज्यादा फंड मिलने पर मुलायम की बहू अपर्णा की सफाई- अच्छा काम करने पर मिला पैसा, इसमें गलत क्या है?
3 नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने क्रिकेट में SC/ST के लिए मांगा 25% आरक्षण